दशरथ के पुत्र नहीं थे भगवान राम, निषाद परिवार में हुआ था जन्म, संजय निषाद के विवादित बयान पर मचा बवाल

निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद भगवान राम को लेकर दिए अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में हैं, उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी और बीजेपी के बीच गठबंधन है, लेकिन बीजेपी के तमाम नेताओं ने निषाद के इस बयान पर चुप्पी साध रखी है

Updated: Nov 09, 2021, 05:24 PM IST

दशरथ के पुत्र नहीं थे भगवान राम, निषाद परिवार में हुआ था जन्म, संजय निषाद के विवादित बयान पर मचा बवाल

लखनऊ। निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया है। संजय निषाद ने कहा है कि भगवान राम दशरथ के नहीं बल्कि श्रृंगी ऋषि के पुत्र थे। संजय निषाद के विवादित बयान को लेकर सोशल मीडिया पर बवाल मचा पड़ा है। वहीं निषाद के बयान को लेकर बीजेपी की चुप्पी पर भी कई सवाल उठ रहे हैं। 

सोशल मीडिया पर इस समय संजय निषाद का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वे मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए यह कह रहे हैं कि राम दशरथ के नहीं श्रृंगी ऋषि के संतान थे। राम का जन्म नियोग विधि से हुआ था। खीर खिलाने से कोई बच्चा पैदा नहीं हो सकता है।

भगवान राम को लेकर दिए गए इस विवादित बयान को लेकर सोशल मीडिया पर लोग संजय निषाद का जमकर विरोध कर रहे हैं। साथ ही साथ निषाद के बयान पर बीजेपी नेताओं की चुप्पी पर भी लोग सवाल खड़ा कर रहे हैं। संजय निषाद की पार्टी उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सहयोगी है और आगामी विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टी साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली हैं। 

संजय निषाद के बयान का संत समाज ने भी कड़ा विरोध किया है। संत समाज अब बीजेपी की उत्तर प्रदेश इकाई से निषाद पार्टी से गठबंधन तोड़ने की मांग कर रहा है। लेकिन बीजेपी की ओर से इस मामले में अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। सितंबर महीने में ही दोनों पार्टियों के साथ चुनाव लड़ने की घोषणा हुई थी। हालांकि अब तक दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे का एलान नहीं हुआ है।