यह अहंकार और गुस्से का नहीं, बल्कि एकता का समय है, मार्गरेट अल्वा की सीएम ममता से अपील

उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा ने कहा मेरा विश्वास है कि ममता बनर्जी, जो साहस का प्रतीक हैं, विपक्ष के साथ खड़ी होंगी

Updated: Jul 22, 2022, 06:48 PM IST

यह अहंकार और गुस्से का नहीं, बल्कि एकता का समय है, मार्गरेट अल्वा की सीएम ममता से अपील

नई दिल्ली। देश के उप राष्‍ट्रपति पद के लिए विपक्ष की संयुक्‍त उम्‍मीदवार मार्गरेट अल्‍वा ने चुनाव के दौरान वोटिंग से गैरमौजूद रहने के तृणमूल कांग्रेस पार्टी के फैसले की आलोचना की है। अल्‍वा ने एक ट्वीट करते हुए ममता बनर्जी से कहा कि यह समय किसी भी बात, अहंकार या गुस्‍से का नहीं है।

अल्वा ने ट्वीट किया, ‘उप राष्ट्रपति चुनाव से तृणमूल कांग्रेस का अनुपस्थित रहने का फैसला निराशाजनक है। यह वाद-विवाद, अहंकार और गुस्से का समय नहीं है। यह साहस, नेतृत्व और एकता का समय है। मेरा विश्वास है कि ममता बनर्जी, जो साहस का प्रतीक हैं, विपक्ष के साथ खड़ी होंगी।' 

यह भी पढ़ें: हम सावरकर की औलादों से नहीं डरते, बीजेपी पर भड़के दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल

दरअसल, तृणमूल कांग्रेस के महासचिव अभिषेक बनर्जी ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी पार्टी आगामी उपराष्ट्रपति चुनाव से दूर रहेगी। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस उसे जानकारी दिए बिना विपक्षी उम्मीदवार का फैसला करने के तरीके से सहमत नहीं है। बताया जा रहा है कि सोनिया गांधी ने टीएमसी चीफ ममता बनर्जी से इस संबंध में बातचीत भी की है।

उधर सत्ताधारी गठबंधन एनडीए ने पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ को उपराष्ट्रपति पद के चुनाव में अपना उम्मीदवार बनाया है। धनखड़ का मुकाबला अल्वा से होना है।