ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन अब नहीं आएंगे भारत, 26 जनवरी पर मुख्य अतिथि बनने वाले थे

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपने देश में कोरोना के नए स्ट्रेन के तेज़ी से फैलने की वजह से भारत नहीं आने का फ़ैसला किया है

Updated: Jan 06, 2021, 01:23 AM IST

ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन अब नहीं आएंगे भारत, 26 जनवरी पर मुख्य अतिथि बनने वाले थे
Photo Courtesy : News Nation

नई दिल्ली। इंग्लैंड के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपना भारत दौरा रद्द कर दिया है। इंग्लैंड में फैल रहे कोरोना के नए स्ट्रेन को ध्यान में रखते हुए बोरिस जॉनसन ने यह फैसला लिया है। बोरिस जॉनसन को 26 जनवरी की परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहना था।  

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बोरिस जॉनसन ने भारत न आ पाने की जानकारी प्रधानमंत्री मोदी को खुद फोन कर दी है। बताया जा रहा है कि बोरिस जॉनसन ने प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत में खेद प्रकट करते हुए कहा कि चूंकि इस समय इंग्लैंड में कोरोना के नए स्ट्रेन के कारण हालात बेकाबू हैं, लिहाज़ा वे गणतंत्र दिवस पर भारत नहीं आ सकते।

यह भी पढ़ें : ब्रिटेन में डेढ़ महीने का लॉकडाउन लागू, कोरोना के नए स्ट्रेन को रोकने की कोशिश

दरअसल इंग्लैंड में कोरोना के नए स्ट्रेन का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। इंग्लैंड में एक बार फिर महामारी को नियंत्रण में करने के उद्देश्य से लॉकडाउन भी लगाने की घोषणा की गई है। इंग्लैंड में यह लॉकडाउन फरवरी मध्य तक के लिए लगाया गया है। इस लिहाज़ से यह अटकलें पहले से ही शुरू हो गई थीं कि बोरिस जॉनसन संभवतः अपना भारत दौरा रद्द कर सकते हैं।  

यह भी पढ़ें : किसानों की ब्रिटिश सांसदों से अपील, ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन को भारत आने से रोकें

दूसरी तरफ हाल ही में केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसानों ने भी कहा था कि वे ब्रिटिश सांसदों से यह अपील करेंगे कि जब तक हमारी मांगें नहीं मान ली जाती तब तक वे अपने प्रधानमंत्री को भारत न आने दें।  अगर बोरिस जॉनसन भारत आते तो वे पिछले 27 सालों में मुख्य अतिथि के तौर पर भारत आने वाले पहले ब्रिटिश पीएम होते। जॉनसन से पहले सन् 1993 में तत्‍कालीन ब्रिटिश पीएम जॉन मेजर बतौर मुख्‍य अतिथि भारत आए थे।