Ramdas Athawale: नो कोरोना बोलिए और वायरस को भगाइए, मोदी के मंत्री का अनूठा मंत्र

केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने फरवरी में दिया था गो कोरोना, कोरोना गो का नारा, उनका दावा है कि इस नारे की वजह से अब कोरोना वायरस देश छोड़ रहा है

Updated: Dec 28, 2020, 03:48 PM IST

Ramdas Athawale: नो कोरोना बोलिए और वायरस को भगाइए, मोदी के मंत्री का अनूठा मंत्र
Photo Courtesy: The Indian Express

नई दिल्ली। दुनियाभर के वैज्ञानिक जहां एक ओर कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए वैक्सीन और दवाओं के ईजाद में लगे हैं वहीं मोदी सरकार के मंत्री रामदास आठवले ने अपने नारे से ही कोरोना को भगाने का दावा किया है। 'गो कोरोना, कोरोना गो' का नारा देने वाले रामदास आठवले ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को भगाने के लिए भी एक नया नारा दे दिया है। उनका ये नया नारा है 'नो कोरोना, कोरोना नो'।

राज्यसभा सांसद व केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले के मुताबिक उन्होंने अपने पुराने नारे 'गो कोरोना गो' की अपार सफलता को देखते हुए यह नया नारा दिया है। रविवार को मीडिया से बातचीत के दौरान  उन्होंने कहा, 'कोरोना वायरस के लिए मैने पहले गो कोरोना गो का नारा दिया था, और आज कोरोना देश छोड़ कर जा रहा है। अब यूके से आए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के लिए मैं 'नो कोरोना, कोरोना नो' नया का नारा देता हूं।'

आठवले वैसे तो अपने बयानों की वजह से लगातार सुर्खियों में रहते हैं, लेकिन कोरोना काल के दौरान उनके अजीबोगरीब बयानों ने उन्हें देशभर में खासा मशहूर कर दिया है। उन्होंने पहली बार फरवरी के महीने में एक चीनी राजनयिक व बौद्ध भिक्षुओं की मौजूदगी में गो कोरोना गो के नारे लगाए थे। इसके बाद यह नारा इतना पॉपुलर हो गया कि इस बोल से दर्जनों रैप्स और गाने बनाए गए। मीडिया ने भी इस नारे को लेकर उनका काफी इंटरव्यू लिया था।

दिलचस्प बात यह है कि कोरोना को अपने नारों से भगाने का दावा करने वाले मोदी सरकार के मंत्री पिछले महीने खुद ही कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद उन्हें 10 दिनों तक मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती होकर इलाज करवाना पड़ा था। आठवले ने कोरोना से जंग जीतने के बाद यह भी कहा कि मुझे ऐसा लगता था कोरोना मेरे करीब नहीं आ सकता, लेकिन यह वायरस हर कहीं पहुंच सकता है।

क्या है कोरोना का नया स्ट्रेन

दरअसल, ब्रिटेन में कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन मिला है।  इस स्ट्रेन के आने के बाद वहां कोरोना केस काफी तेजी से बढ़ने लगी है जिसने दुनियाभर के लोगों के मन में एक नया खौफ पैदा कर दिया है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह नया स्ट्रेन पहले से ज्यादा घातक है, साथ ही इसका फैलाव भी पिछले कोरोना वायरस से काफी तेज है। इसी खौफ की वजह से कई देशों ने ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। ब्रिटेन से भारत आए कुछ लोग भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। फिलहाल डॉक्टर्स इनके सैम्पल का अध्ययन कर रहे हैं।