यूपी बोर्ड की 10वीं की परीक्षा रद्द, बगैर एग्जाम प्रमोट होंगे छात्र, 12वीं पर फैसला जल्द

उत्तर प्रदेश में इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं नहीं होंगी। कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने 10वीं बोर्ड की परीक्षा नहीं कराने का फैसला लिया है।

Updated: May 30, 2021, 01:09 PM IST

यूपी बोर्ड की 10वीं की परीक्षा रद्द, बगैर एग्जाम प्रमोट होंगे छात्र, 12वीं पर फैसला जल्द
Photo courtesy: patrika

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने छात्रों के हित में बड़ा फैसला लिया है। इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर दी गई है। कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार ने दसवीं कक्षा के सभी छात्रों को प्रमोट करने का निर्माण लिया है। इसके साथ ही कक्षा 6, 7, 8, 9 और 11वीं के बच्चों को भी प्रमोट किया जाएगा। 

यह जानकारी राज्य के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने मीडिया को दी। उन्होंने कहा कि  कोरोना संक्रमण की वजह से उत्तर प्रदेश में हाई स्कूल बोर्ड  की परीक्षा निरस्त की गई है। इस साल प्रदेश के 30 लाख छात्र बिना परीक्षा दिए पास होंगे। वहीं, 12वीं की परीक्षा जुलाई के दूसरे सप्ताह में आयोजित करने का निर्माण लिया जा सकता है।


बता दें, उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल व इंटर मीडिएट परीक्षा 2021 नहीं हो सकी है। आमतौर पर ये परीक्षाएं फरवरी और मार्च के महीने में आयोजित की जाती थी। पिछले शिक्षण सत्र 2020 में 18 फरवरी से परीक्षाएं हुई थीं, लेकिन चुनाव की वजह से परीक्षाओं का कार्यक्रम दो बार घोषित करके स्थगित करना पड़ा है।

सीबीएसई ने अप्रैल में ही निर्णय लिया था कि, वह हाई स्कूल के परीक्षार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट करेगा। इसके बाद से यही कयास लगाया जा रहा था कि यूपी बोर्ड भी उसी की राह चल सकता है, लेकिन उस समय तक हाई स्कूल के परीक्षार्थियों को प्रमोट करने का आधार नहीं मिल पा रहा था। अब यूपी बोर्ड ने भी सीबीएससी  की तरह एग्जाम रद्द कर 10वीं के छात्रों को प्रमोट करने का निर्णय लिया है।