यू डोंट टॉक टू मी, सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी को लताड़ा, राष्ट्रपत्नी विवाद पर चौधरी बोले- बांग्लाभाषी हूं, चूक हुई

लोकसभा में गुरुवार को अधीर रंजन चौधरी के 'राष्ट्रपत्नी' वाले बयान पर बहस करने की नियत से सोनिया गांधी के पास गईं स्मृति ईरानी, कांग्रेस अध्यक्ष ने डांटकर कराया शांत, निर्मला सीतारमन बोलीं- उन्होंने हमारे सांसदों को डराया

Updated: Jul 28, 2022, 06:47 PM IST

यू डोंट टॉक टू मी, सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी को लताड़ा, राष्ट्रपत्नी विवाद पर चौधरी बोले- बांग्लाभाषी हूं, चूक हुई

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के ''राष्ट्रपत्नी" वाले बयान को सत्ताधारी दल तिल का ताड़ बनाने में लगा हुआ है। कैबिनेट मंत्रियों से लेकर भाजपा सांसद तक सदन में इस बात पर हंगामा करते नजर आए। एक भाषाई चूक को लेकर सदन में हाईलेवल पॉलिटिकल ड्रामा देखने को मिला। बीजेपी की बड़बोली मंत्री स्मृति इस मामले पर सोनिया गांधी से जिरह करने पहुंच गई। लेकिन उन्होंने जैसे ही सोनिया गांधी से कुछ बोलना शुरू किया, कांग्रेस अध्यक्ष ने उन्हें जोरदार फटकार लगाई और स्मृति ईरानी सकपका गईं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक राष्ट्रपत्नी वाले बयान के विरोध में सत्ताधारी दल के सदस्य सोनिया गांधी माफी मांगों के नारे लगा रहे थे। अपना नाम लिए जाने पर सोनिया गांधी सांसद रमा देवी के पास आईं और उनसे पूछा कि उनका नाम क्यों लिया जा रहा है। रमा देवी को सोनिया गांधी ने बताया कि अधीर रंजन चौधरी तो माफी भी मांग चुके हैं। कांग्रेस अध्यक्ष रमा देवी से बात कर ही रहीं थी की यहां स्मृति ईरानी पहुंच गईं और उन्होंने बीच में बोलना शुरू कर दिया।

दो वरिष्ठ सांसदों के बीच बातचीत में टांग अड़ाना बड़बोली नेत्री स्मृति ईरानी को तब भारी पड़ गया जब सोनिया गांधी ने उन्हें फटकार लगा दी। सोनिया गांधी ने डांटते हुए कहा कि 'यू डोंट टॉक टू मी'। इस दौरान स्मृति ईरानी सकपका गईं। इस दौरान सांसद गौरव गोगोई और सुप्रिया सुले ने वहां मौजूद अन्य सदस्यों को हटाया और सोनिया गांधी को लेकर गए।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने मीडिया के सामने आकर भी इस घटना का उल्लेख किया। सीतारमण ने मीडिया से कहा है कि सदन में सोनिया गांधी का बात करने का अंदाज धमकी भरा था। उन्होंने भाजपा सांसदों को धमकाया। दरअसल, यह पूरा विवाद अधीर रंजन चौधरी के एक बयान को लेकर खड़ा हुआ है, जिसमें उन्होंने गलती से राष्ट्रपति के जगह राष्ट्रपत्नि शब्द बोल दिया था।

हालांकि, अधीर रंजन चौधरी को जैसे ही आभास हुआ कि उन्होंने हिंदी में कोई गड़बड़ शब्द बोला है तो उन्होंने तत्काल माफी मांग ली। साथ ही बताया कहा कि यह केवल बांग्लाभाषी होने के कारण गड़बड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि वह राष्ट्रपति ही बोलना चाह रहे थे। भाजपा एक तिल को ताड़ बना रही है। उन्होंने भाजपा पर महंगाई, अग्निपथ योजना, बेरोजगारी आदि पर अहम चर्चाओं से ध्यान हटाने का आरोप लगाया। साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा है और स्वयं जाकर उनसे भी इस भाषाई चूक के लिए सॉरी कहेंगे।