सच होगा हवा में कार चलाने का सपना, फ्लाइंग कार ने भरी उड़ान, जागी आशा की नई किरण

आसमान में उड़ने वाली कार अब दुनिया के सामने आ गई है, हाल ही में स्लोवाकिया के नाइट्रा एयरपोर्ट पर इस कार ने 35 मिनट तक 8 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ान भरी, यह टू सीटर एयर कार BMW के इंजन से लैस है

Updated: Jul 02, 2021, 04:05 PM IST

सच होगा हवा में कार चलाने का सपना, फ्लाइंग कार ने भरी उड़ान, जागी आशा की नई किरण
Photo Courtesy: twitter

अब वो दिन दूर नहीं जब आप अपनी कार से उड़ान भर सकेंगे। जी हां आसमान में उड़ने वाली कार का सपना पूरा होने जा रहा है। हाल ही में स्लोवाकिया के नाइट्रा एयरपोर्ट पर फ्लाइंग कार का ट्रायल पूरा हुआ है। इस कार की रफ्तार इतनी है कि यह मिनटों में धरती से 8 हजार किलोमीटर की ऊंचाई तक पहुंच सकती है।

 इस कार को क्लेनविजन द्वारा तैयार किया गया है। इस एयरकार ने अपनी पहली उड़ान पूरी कर ली है, जिसे देखकर दुनिया भर में लोग रोमांचित हो रहे हैं, लोगों को इस कार के मार्केट में आने का इंतजार है।

यह एयरकार 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 8 हजार फीट से ज्यादा की हाइट पर उड़ान भर सकती है।  फ्लाइंग कार ने स्लोवाकिया में दो शहरों के बीच अपनी पहली उड़ान भरी। दो शहरों की दूरी इस एयर कार ने महज तीन मिनटों में पूरी की। यह कार पहले हवा में उड़ान भरती है और फिर जमीन पर लैंड करती है। कार लैंडिंग के बाद उपने विग्स को ऐसे मोड़ती है कि वह कार में तब्दील हो जाती है। और शहर की सड़कों पर तेजी से दौड़ती है। 

फ्लाइंग कार ने नाइट्रा शहर से स्लोवाकिया की राजधानी ब्रातिस्लावा की दूरी 35 मिनट में तय की है। इसे एयरकार के सपने को पूरा करने में मील का पत्थर माना जा रहा है।इस ट्रायल से कार के उत्पादन में मदद मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। एयर कार के डेवलपर्स की मानें तो यह छुट्टियां मनाने, खुद उड़ाने और एक कमर्शियल टैक्सी के तौर पर उपयोग के लिए बेहतरीन होगी। 

 

यह फ्लाइंग कार BMW इंजन से लैस है, जोकि सामान्य पेट्रोल से चलेगी। यह टू सीटर कार है। माना जा रहा है कि सब कुछ ठीक रहा तो यह अगले साल तक ये आसमान और जमीन दोनों पर नजर आने लगेगी। इसकी कीमत के बारे में केवल अंदाजा लगाया जा रहा है, एयर कार निर्माताओं की ओर से दाम का खुलासा नहीं किया गया है। इस कार का वीडियो एक यूट्यूबर और इन्वेंटर स्टीफन क्लेन ने अपने यूट्यूब चैनल क्लेन विजन पर शेयर किया है जो कि पूरी दुनिया में पंसद किया जा रहा है। 

इस कार के बारे में प्रोफेसर स्टीफन क्लेन का कहना है कि फ्लाइंग कार अब केवल एक कॉन्सेप्ट नहीं रह गया है। इस कार ने साइंस फिक्शन को सच्चाई में बदलने का काम किया है। दरअसल क्लेन विजन की टीम ने 28 जून को इस कार की 142वीं सफल लैंडिंग से पहले कई ट्रायल्स किए थे।

बोइंग कंपनी के सीनियर टैक्निकल टीम के सदस्य डॉ ब्रैंको सरह ने भी प्रोफेसर क्लेन की तरीफ की थी। उन्होंने कहा था कि "प्रोफेसर स्टीफन क्लेन यूजर फ्रेंडली फ्लाइंग कार बनाने में वर्ल्ड लीडर हैं।