Corona Effect: स्वतंत्रता दिवस पर झंडे की माँग आधी हुई

Independence day 2020: कोरोना का प्रकोप देश भर में घटी तिरंगे झंडे की माँग, इस बार झंडों के आधे से भी कम मिले ऑर्डर

Updated: Aug-15, 2020, 02:30 AM IST

Corona Effect: स्वतंत्रता दिवस पर झंडे की माँग आधी हुई
photo courtesy : ANI

हुबली। देश भर में खादी का तिरंगा झंडा बनाने वाली एकमात्र संस्था भी कोरोना की मार झेल रही है। कर्नाटक के हुबली में स्थित खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ को इस बार तिरंगे झंडे के ऑर्डर पहले जैसे नहीं मिले हैं। लिहाज़ा कोरोना के प्रकोप के कारण खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ भी आर्थिक तंगहाली झेल रहा है। 

खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ द्वारा निर्मित झंडों की बिक्री में इस बार भारी गिरावट देखने में आई है। संघ के सचिव शिवानंद मथापथी ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया कि झंडों की बिक्री लगभग आधी हो गई है। शिवानंद ने कहा कि ' हम भारत मानक ब्योरो द्वारा प्रमाणित हैं, हम कोरोना के प्रकोप से प्रभावित हैं। हमें ज़्यादा ऑर्डर नहीं मिल पा रहे हैं, बिक्री लगभग 50 प्रतिशत तक कम हो गई है।

ऑर्डर में कमी आने के कारण इस संघ में काम करने वाले बुनकरों पर भी रोज़ी रोटी चले जाने का खतरा मंडराने लगा है। देश के ज़्यादातर हिस्सों में इस दफा स्वतंत्रता दिवस मनाए जाने की उम्मीद कम ही है।लिहाज़ा इस बार खादी ग्रामोद्योग संघ और उसके बुनकरों के पास आर्थिक तंगहाली झेलने के अलावा अन्य कोई दूसरा विकल्प दिखता नज़र नहीं आ रहा है।

देश भर में स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर फहराए जाने वाले झंडों का कर्नाटक के हुबली स्थित इस संघ से सीधा संबंध है। देश भर में खादी से बने हुए तिरंगे झंडे का निर्माण और इसकी आपूर्ति हुबली का खादी ग्रामोद्योग संघ ही करता है। यह देश भर में खादी के झंडे बनाने वाली एकमात्र संस्था है। लेकिन कोरोना का प्रकोप ऐसा है कि यह संघ भी इसकी चपेट में आ गया है।खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ कर्नाटक के हुबली क्षेत्र में बेंगेरी में स्थित है। यह संघ विभिन्न आकार के खादी के झंडों का निर्माण करता है।