कोहली का प्रदर्शन भी पुजारा और रहाणे जैसा ही, लेकिन कोई कोहली को बाहर करने की बात नहीं करता: नेहरा

पुजारा और रहाणे के बचाव में उतरे आशीष नेहरा, बोले दोनों ने भारतीय टीम में अपना अभूतपूर्व योगदान दिया है

Publish: Jan 04, 2022, 01:06 PM IST

कोहली का प्रदर्शन भी पुजारा और रहाणे जैसा ही, लेकिन कोई कोहली को बाहर करने की बात नहीं करता: नेहरा
Photo Courtesy: News Nation

नई दिल्ली। लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की भारतीय टीम में जगह पर सवाल खड़े होने लगे हैं। सेंचुरियन के बाद जोहान्सबर्ग में भी खराब बल्लेबाजी के कारण दोनों ही बल्लेबाजों की आलोचना हो रही है। हालांकि पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा की बचाव में उतर आए हैं। नेहरा ने कहा है कि खुद विराट कोहली का प्रदर्शन भी अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा जैसा ही है, लेकिन कोई टीम में कोहली की जगह पर सवाल खड़ा नहीं करता। 

आशीष नेहरा ने क्रिकबज से बातचीत के दौरान कहा कि विराट कोहली के भी आंकड़े पुजारा और रहाणे जैसे ही हैं। लेकिन कोई टीम में विराट कोहली की जगह पर सवाल खड़े नहीं कर रहा है। नेहरा ने कहा कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि कोहली ने जो भारतीय टीम के लिए किया है वह अद्वितीय है। वह टीम के कप्तान भी हैं। दोनों और कोहली के बीच तुलना करना भी मुनासिब नहीं है। लेकिन पुजारा और रहाणे का भी भारतीय टीम में योगदान कम नहीं रहा है। 

जोहान्सबर्ग में दूसरे टेस्ट की शुरुआत से पहले टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ से भी चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे के फॉर्म को लेकर सवाल पूछा गया था। तब राहुल द्रविड़ ने भी दोनों ही बल्लेबाजों का बचाव करते हुए कहा था कि दोनों ही अच्छी पारी खेलने के एकदम करीब हैं। द्रविड़ ने यह उम्मीद जताई थी कि जल्द ही दोनों क्रिकेटर अपनी लय में लौट जाएंगे।

अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा बीते कुछ समय से लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। दूसरी तरफ हनुमा विहारी और श्रेयस अय्यर भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की करने को आतुर हैं। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हनुमा विहारी शानदार प्रदर्शन से अपनी बल्लेबाजी का लोहा मनवा चुके हैं। जबकि न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई घरेलू टेस्ट सीरीज में अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक और अर्धशतकीय पारी खेलकर श्रेयस अय्यर भी खुद को साबित कर चुके हैं। 

टीम मैनेजमेंट और पूर्व क्रिकेटर भले ही चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे का बचाव कर रहे हों लेकिन दूसरी तरफ सेलेक्टर्स विशेष तौर पर अजिंक्य रहाणे को संदेश दे चुके हैं कि अगर वे जल्द ही फॉर्म में नहीं लौटे तो टीम इंडिया में उनका बने रहना मुश्किल हो सकता है।

न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में खेली गई श्रेयस अय्यर की शानदार पारी के बाद मुंबई में खेले गए दूसरे टेस्ट से ठीक पहले अजिंक्य रहाणे को चोट का हवाला देकर भारतीय टीम से बाहर का रास्ता भी दिखाया जा चुका है। दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले टीम इंडिया का ऐलान होते ही अजिंक्य रहाणे से उपकप्तानी भी छीन ली गई। अजिंक्य रहाणे की जगह रोहित शर्मा को टीम इंडिया का उपकप्तान बनाया गया। 

हालांकि जब रोहित शर्मा चोटिल होकर दक्षिण अफ्रीका दौरे से बाहर हो गए, तब भी अजिंक्य रहाणे के बजाय केएल राहुल को टीम का उपकप्तान नियुक्त किया गया। विराट कोहली के जोहान्सबर्ग टेस्ट से पहले चोटिल होने के बाद टीम की कमान भी केएल राहुल ही संभाल रहे हैं। ऐसे में यह बात तय है कि खुद सेलेक्टर्स की नज़र में अजिंक्य रहाणे टीम इंडिया में अपनी पक्की जगह खो चुके हैं।