कोच को हटा दिया, कैसे जीतूंगी गोल्ड, ओलंपिक मेडलिस्ट का फेडरेशन पर हैरेसमेंट का आरोप

ओलंपिक पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के आगाज से पहले कहा कि उन्हें कोच के साथ ट्रेनिंग नहीं करने दिया जा रहा है

Updated: Jul 25, 2022, 06:35 PM IST

कोच को हटा दिया, कैसे जीतूंगी गोल्ड, ओलंपिक मेडलिस्ट का फेडरेशन पर हैरेसमेंट का आरोप

देश लिए टोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली स्टार बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले सनसनीखेज आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि उन्हें अपने कोच के साथ ट्रेनिंग नहीं करने दिया जा रहा है। लवलीना ने बॉक्सिंग फेडरेशन पर हैरेसमेंट का आरोप लगाया है।

लवलीना ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, 'आज मैं बड़े दुख के साथ कहती हूं कि मेरे साथ बहुत हैरेसमेंट हो रहा है। जिस कोच ने मुझे ओलिंपिक में मेडल जीतने में मदद की, उन्हें बार-बार हटा दिया जा रहा है। इससे मेरे ट्रेनिंग प्रोसेस पर बुरा असर हुआ है। इंग्लैंड आने से पहले भी मुझे अपने कोच के साथ ट्रेनिंग करने में बहुत मुश्किल हुई। बार-बार हाथ जोड़ कर मिन्नत करने के बावजूद बहुत देर से उन्हें जॉइन कराया जाता है।'

वह आगे लिखती हैं कि, 'मुझे ट्रेनिंग में बहुत परेशानी उठानी पड़ती है और मेंटल हैरेसमेंट तो होता ही है। अभी तक मेरी कोच संध्या को कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज के बाहर रखा गया है। उन्हें एंट्री नहीं मिल रही है। ऐसा तब हो रहा है जब कॉमनवेल्थ गेम्स में मेरे मुकाबले शुरू होने में 8 दिन ही बचे हैं। मेरे दूसरे कोच को भी वापस भारत भेज दिया गया है। मुझे समझ नहीं आ रहा मैं कैसे फोकस करूं? इसी के कारण पिछली वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी मेरा परफॉर्मेंस खराब हुआ था। अब राजनीति के कारण मैं कॉमनवेल्थ भी खराब नहीं करना चाहती हूं। आशा करती हूं कि मैं मेरे देश के लिए इस राजनीति को तोड़कर मेडल ला पाऊं। जय हिंद।'

लवलीना ने ये आरोप किस पर लगाए हैं, अब तक कुछ क्लियर नहीं हो पाया है। लवलीना बोरगोहेन, निकहत ज़रीन, नीतू घणघस, जैसमिन लंबोरिया के साथ CWG में इंडिया का प्रतिनिधित्व करने पहुंची हैं। वो 70Kg कैटेगरी में फाइट करने वाली हैं। लवलीना इंडिया की ओर से मेडल के सबसे बड़ा दावेदारों में शामिल हैं। इससे पहले वो टोक्यो ओलंपिक्स 2020 में ब्रॉन्ज़ मेडल जीत चुकी हैं। बॉक्सिंग में ओलंपिक्स मेडल जीतने वाली वो सिर्फ दूसरी भारतीय महिला बॉक्सर हैं।