छत्तीसगढ़ की दो चिटफंड कंपनी के 8 डायरेक्टर गिरफ्तार, 12 करोड़ से ज्यादा की ठगी का है आरोप

राजस्थान और ओडिशा से प्रोटेक्शन वारंट पर लाए गए आरोपी, आधा दर्जन आरोपी मध्यप्रदेश के निवासी, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र में कर चुके हैं सैकड़ों से ठगी, छत्तीसगढ़ में चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्क कर रकम लौटाने का काम युद्ध स्तर पर जारी

Updated: Dec 05, 2021, 11:10 AM IST

छत्तीसगढ़ की दो चिटफंड कंपनी के 8 डायरेक्टर गिरफ्तार, 12 करोड़ से ज्यादा की ठगी का है आरोप
Photo Courtesy: bhaskar

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में पैसा डबल करने के नाम पर जनता की गाढ़ी कमाई लूटने वालों पर तेजी से शिकंजा कसा जा रहा है। ऐसी कंपनी के संचालकों को खोज-खोज कर लाया जा रहा है, इसी कड़ी में चिटफंड कंपनी के 8 आरोपियों को राजस्थान और ओडिशा से लाया गया है। वे वहां जेलों में बंद थे। छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर दोषियों पर लगातार एक्शन लिया जा रहा है। पुलिस ने निर्मल इंफ्राहोम कंपनी नाम की चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं इस कंपनी के खिलाफ 12 मामले दर्ज किए हैं। इन आरोपियों को पुलिस भुवनेश्वर से पुलिस रिमांड पर लाई है।इस चिटफंड कंपनी निर्मल इंफ्रा होम के खिलाफ बिलासुपर के कोटा थाने में ठगी के मामले दर्ज हैं।

डायरेक्टर पर 7 करोड़ की ठगी का आरोप है। इन आरोपियों को भुवनेश्वर में CBI ने गिरफ्तार किया था। अब पुलिस ने बिलासपुर पुलिस कोर्ट से प्रोटेक्शन वारंट लिया और भुवनेश्वर जेल से इन आरोपियों को बिलासपुर लाया गया है। चिटफंड कंपनी के सभी 6 आरोपी मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। इनकी पहचान अभिषेक सिंह चौहान, हरीश शर्मा, निरंजन सक्सेना, लखन सोनी, प्रबल प्रताप सिंह और आशीष चौहान के तौर पर हुई है।

और पढ़ें: चिटफंड कंपनी के 4 डायरेक्टर गिरफ्तार, फोरंसिक ऑडिट से कंपनियों के गुप्त निवेश और संपत्ति के खुलासे की तैयारी

वहीं दूसरी तरफ भिलाई पुलिस राजस्थान से दो आरोपियों को प्रोटेक्शन वारेंट पर लाई है। इन पर पैसा दोगुना करने का झांसा देकर लोगों से 5 करोड़ की ठगी का आरोप है। सनशाइन हाईटेक इंफ्राकॉन लिमिटेड के दो डायरेक्टर दीपक गहलोत और दिनेश भूरिया फरार चल रहे थे, इनके खिलाफ 2017 से मामले दर्ज थे, पुलिस ने जांच के दौरान पाया कि य़े राजस्थान की जेल में बंद हैं, वहां से पुलिस आरोपियों को भिलाई लाई है। 

और पढ़ें: चिटफंड कंपनियों से ठगाए लोगों को मिली राहत, कंपनियों की प्रॉपर्टी कुर्क कर निवेशकों को करीब 2.5 करोड़ लौटाए

इस कंपनी के दो डायरेक्टर्स को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं इस गिरोह के के कई आरोपी अब भी फरार हैं, जिनकी खोज में पुलिस लगी है। सनशाइन कंपनी के फरार आरोपी भी मध्यप्रदेश के निवासी है, एक देवास और दूसरा झाबुआ का रहने वाला है। इस चिटफंड कंपनी ने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, महाराष्ट्र और गुजरात में सैकड़ों लोगों को पैसा डबल करने के नाम पर लूटा है।