छत्तीसगढ़ में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित, कई जिलों में बने बाढ़ के हालात, रायपुर से 3 जिलों का संपर्क टूटा

रायपुर में वर्षा का 10 साल का रिकॉर्ड टूटा, एक दिन में गिरा 504 मिमी पानी, गरियाबंद में सिकासेर बांध के 17 गेट खुले निचली बस्तियां जलमग्न, 7 जिलों में बारिश के लिए रेड अलर्ट जारी

Updated: Sep 14, 2021, 03:40 PM IST

छत्तीसगढ़ में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित, कई जिलों में बने बाढ़ के हालात, रायपुर से 3 जिलों का संपर्क टूटा
Photo Courtesy: news today

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बारिश कहर बन कर टूट रही है। राज्य के ज्यादातर इलाके में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। जिससे बाढ़ की स्थिति बन गई है। वहीं मौसम विभाग ने 7 जिलों के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। बरसात के साथ आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी भी दी गई है। 

राजधानी रायपुर से गरियाबंद, धमतरी, जगदलपुर का संपर्क पूरी तरह से टूट गया है। सड़कों पर पानी भर जाने की वजह से आवागमन प्रभावित हो रहा है। भारी बारिश की वजह से घरों, सड़कों, मंदिरों में पानी भर गया है। नदी नाले उफान पर हैं। गरियाबंद के पास स्थित कई जल प्रपातों में पानी बढ़ गया है। गरियाबंद जिले के सिकासेर बांध के 17 गेट खोल दिए गए हैं। यहां 22 गेट हैं, 5 गेटों को कभी भी खोला जा सकता है। बांध के 17 गेट खोलने की वजह से निचले इलाकों में पानी भर गया है। गरियाबंद के कई रास्तों को बंद कर दिया गया है। गांवों को खाली करने की अपील की गई है। प्रसिद्ध पर्यटन स्थल घटारानी में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के लिए राजनांदगांव, दुर्ग, बालोद, मुंगेली, कबीरधाम, कांकेर और बेमेतरा में मूसलाधार वर्षा की चेतावनी जारी की है। स्थानीय प्रशासन को अतिवृष्टि से उपजे हालात से निपटने के निर्देश दिए हैं।  वहीं प्रदेश के अन्य जिलों राजधानी रायपुर जांजगीर-चांपा, कोरबा, रायगढ़, बिलासपुर, बलौदा बाजार, गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद, नारायणपुर और कोण्डागांव में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग का कहना है कि बलरामपुर, बस्तर, दंतेवाड़ा, कोरिया, सूरजपुर, सरगुजा, जशपुर,सुकमा और बीजापुर के कुछ इलाकों में हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है। धमतरी जिले के आमापारा, बनिया पारा सहित निचली बस्तियों में लोगों के घर जलमग्न हो गए हैं।

और पढ़ें: बलरामपुर में मधुमक्खियों का आतंक, पेड़ पर चढ़े युवक पर किया हमला, मौत

रायपुर में 10 साल का रिकार्ड टूटै है, यहां बीते 24 घंटे में 504.4 मिली मीटर वर्षा दर्ज की गई है। रायपुर-जगदलपुर हाईवे से वाहनों का मार्ग डाइवर्ट कर दिया गया है। यहां के पुराना बस स्टैंड के पास भी 3 फीट तक पानी भरा है। 

अभी दो सप्ताह पहले ही प्रदेश के करीब 24 जिलों में सूखे की आशंका जताई जा रही थी। प्रदेश में अगस्त तक औसत से 15 प्रतिशत कम पानी गिरा है। ऐसे में माना जा रहा है कि जाते-जाते मानसून की मेहरबानी से अब बारिश का कोटा पूरा हो जाएगा।