रायपुर एम्स में कोरोना संक्रमित मरीज के शव से गहने चोरी, मां की आखिरी निशानी के लिए महीने भर से भटक रहा बेटा

Publish: Jun 07, 2021, 04:48 PM IST

रायपुर एम्स में कोरोना संक्रमित मरीज के शव से गहने चोरी, मां की आखिरी निशानी के लिए महीने भर से भटक रहा बेटा
Photo courtesy: Bhaskar

रायपुर। एम्स अस्पताल में कोरोना मरीज के सोने के गहने चोरी होने का मामला सामने आया है। कोरोना मरीज की मौत के बाद उसके बेटे ने एम्स के कर्मचारियों पर यह आरोप लगाया है। महीने भर पहले महिला की मौत हुई थी। तब से फरियादी मां के जेवरों के गायब होने की शिकायत कर रहा था। लेकिन एम्स प्रबंधन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके बाद परेशान होकर फरियादी ने एम्स प्रबंधन के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत की है।

मृतका का नाम तसनिम शाहिद था, जिसे कोरोना संक्रमित होने पर 10 अप्रैल को एम्स में दाखिल किया गया था। बेटे का कहना है कि जब मां को अस्पताल में भर्ती किया गया था, तब वे कंगन और झुमके पहने हुए थीं। 19 अप्रैल को मां की मौत के बाद शव से सोने के कंगन और झुमके गायब थे। मामले की लिखित शिकायत बेटे ने एम्स प्रबंधन से की थी। लेकिन महीने भर बाद भी अस्पताल की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। आखिरकार बाद मृतक महिला के बेटे ने गहने चोरी होने की शिकायत रायपुर के आमानाका थाने में की है।

पुलिस ने चोरी की FIR दर्ज कर ली है। मोहम्मद शाहिद की मानें तो उनकी मां के सोने के गहनों की कीमत करीब 3 लाख 70 हजार रुपए है। वहीं इस मामले में एम्स प्रबंधन की ओर से कहा गया है कि कोविड वार्ड में भर्ती करते समय मरीज को कीमती चीजें लाने की परमीशन नहीं होती। मरीजों के कपडे, साबुन और मोबाइल ही ले जाने दिया जाता है। कीमती सामान उनके साथ आए परिजनों को ही दे दिया जाता है। वहीं महिला के बेटे का आरोप है कि उसकी मां के गहने चोरी हो गए हैं।

बेटे ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। उसका कहना है कि मां की आखिरी निशानी अस्पताल में चोरी हो गई। बेटे का कहना है कि उसके पास अस्पताल में मां को एडमिट करते समय की फोटो भी मौजूद है, फोटों में वे सोने के कंगन और झुमके पहने दिखाई दे रही हैं। लिखित शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से परेशान फरियादी ने आमानाका थाना पुलिस मामले की शिकायत कर दी है। अब पुलिस मामले की जांच में जुटी है।