रायपुर में बनेगा प्रदेश का पहला सी मार्ट सुपर स्टोर, गांवों के देसी उत्पादों की एक छत के नीचे होगी बिक्री

गांवों के देसी चावल,कोदो, कुटकी, घानी में तैयारी तेल, बांस का सामान, सिल्क और कोसा प्रोडक्ट्स की होगी बिक्री, एक ही छत के नीचे छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का भी लिया जा सकेगा लुत्फ, सरकार देगी स्टोर के लिए जगह

Updated: Nov 09, 2021, 05:07 PM IST

रायपुर में बनेगा प्रदेश का पहला सी मार्ट सुपर स्टोर, गांवों के देसी उत्पादों की एक छत के नीचे होगी बिक्री
Photo Courtesy: bhaskar

रायपुर। अब वो दिन दूर नहीं जब छत्तीसगढ़ के ग्रामीण उत्पादों को लोग सुपर स्टोर से खरीद सकेंगे। प्रदेश में सी मार्ट खोलने की तैयारी जोरों पर हैं। छत्तीसगढ़ के हर्बल्स प्रोडक्ट्स की तरह ग्रामीण उत्पादों की मार्केटिंग की व्यवस्था लघु वनोपज संघ करने जा रहा है। पिछले बजट में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एलान किया था कि ग्रामीण उत्पादों को नया बाजार प्रदान करने के लिए सी मार्ट सुपर स्टोर खोला जाएगा। शहरों में खुलने वाले इन सुपर स्टोर्स में गांवों में बने शुद्ध देसी लोकल प्रोडक्ट्स की बिक्री की जाएगी।

शहरों में खुलने वाले सुपर मार्केट में ढेकी से कूटा चावल, कच्ची घानी से निकाला गया शुद्ध सरसों और तिल समेत अन्य तेल मिलेगा। वहीं शुगर पेशेंट्स की पहली पसंद बन चुके मोटे अनाज जैसे कोदो, कुटकी के लिए भी लोगों को कहीं भटकना नहीं पड़ेगा। वहीं मक्का समेत सभी तरह की दालों की फसल की बिक्री इन्हीं स्टोर्स में करने की तैयारी है। 

वहीं देसी वनोपज जैसे इमली, महुआ, हर्रा, बहेड़ा, आंवला, और शहद जैसे वन उत्पाद सुपर बाजार में बेचे जा सकेंगे। वहीं गांव की महिलाओं द्वारा तैयार फूल और छीर के झाड़ू, बांस की डलिया,खिलौने, चमड़े का सामान, लौहे से बने शिल्प आइटम्स, कोसा, सिल्क और लकड़ी के उत्पाद भी यहां बिकेंगे। वहीं मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार इन स्टोर्स के साथ ही छत्तीसगढ़ी व्यंजन भी उपलब्ध कराया जाएगा। इन स्टोर्स के पास ही एक ही छत के नीचे इस तरह के देसी रेस्टोरेंट खोलने की तैयारी है। इन स्टोर्स में मिलने वाले अनाज की प्रसोसिंग और मार्केटिंग में प्रदेश सरकार लोगों की मदद करेगी।

उद्योग विभाग ने मुख्यमंत्री के निर्देश के अनुसार काम करना शुरू कर दिया है। सभी जिला मुख्यालयों में सी-मार्ट स्थापित कर गांवों में बना सामान बेचा जाएगा।