कनाडा ने भारत से सीधी फ्लाइट पर 21 अगस्‍त 2021 तक लगायी रोक, चौथी बार बढ़ाई गई बैन की अवधि

कनाडा और भारत की यात्रा करने वाले हजारों यात्रियों की उम्मीदों पर फिरा पानी, लगातार चौथी बार कनाडा ने बढ़ाई विमान सेवा पर लगी रोक, 22 अप्रैल 2021 से हुई थी बैन की शुरुआत, भारत ने पहले ही 31 जुलाई तक लगा रखी है कमर्शियल पैसेंजर फ्लाइट्स पर रोक

Updated: Jul 20, 2021, 03:15 PM IST

कनाडा ने भारत से सीधी फ्लाइट पर 21 अगस्‍त 2021 तक लगायी रोक, चौथी बार बढ़ाई गई बैन की अवधि
Photo Courtesy: Hindustan times

कनाडा की यात्रा करने वालों के लिए एक बुरी खबर है। कनाडा सरकार ने कोरोना महामारी के खतरे के मद्देनजर भारत से सीधी उड़ानों पर एक बार फिर रोक लगा दी गई है। यह बैन 21 अगस्‍त तक के लिए लगाया गया है। यह चौथा मौका है जब कनाडा ने भारतीय विमानों पर रोक लगाई है। कनाडा सरकार ने भारत से डायरेक्ट फ्लाइट पर लगे प्रतिबंध को अब 21 अगस्त 2021 तक के लिए बढ़ा दिया है।

सबसे पहले 22 अप्रैल को फ्लाइट्स पर बैन लगाया गया था। तब से लगातार यह बढ़ाया जा रहा हा। इस बार उम्मीद की जा रही थी कि रोक से राहत मिलेगी लेकिन कनाडा ने रोक जारी रखने का फैसला लिया है। कोरोना के नए डेल्टा वेरिएंट और बेतहाशा बढ़ते मामलों की वजह से यह कड़ा फैसला जारी रखा है। वहीं कनाडा ने इंडायरेक्ट रूट के माध्यम से भारत और कनाडा की यात्रा करने वाले तीसरे देश के प्री-डिपार्चर कोरोना टेस्ट की आवश्यकता को भी बढ़ा दिया है।

कनाडा सरकार की ओर से आश्वासन दिया गया है कि अगर कोरोना की स्थिति कंट्रोल में रही तो 7 सितंबर से वैक्सीनेशन करवा चुके लोगों को देश में एंट्री दी जा सकेगी। जो यात्री कनाडा आने से 14 दिन पहले कनाडा-स्वीकृत वैक्सीन लगवा चुके होंगे उन्हें प्राथमिकता मिलेगी।

वहीं इसकी शुरुआत में कोरोना का पूरा टीकाकरण करवा चुके अमेरिकी नागरिकों और स्थायी निवासियों को 9 अगस्त से गैर-आवश्यक यात्रा के लिए देश में प्रवेश करने की परमीशन दे दी जाएगी। वहीं पूरी तरह से वैक्सीनेशन करवा चुके अमेरिकी यात्रियों को 9 अगस्त से टेस्ट की आवश्यकता नहीं होगी।

कनाडा सरकार के इस फैसले से पहले ही भारत में विमान सेवाओं पर 31 जुलाई तक रोक लगा रखी है। भारतीय नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने शेड्यूलड अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया है। यह रोक अंतरराष्ट्रीय ऑल-कार्गो संचालन और विशेष रूप से विमानन नियामक द्वारा अनुमोदित उड़ानों पर लागू नहीं है। वहीं चुनिंदा देशों के साथ द्विपक्षीय एयर बबल समझौते के तहत चलने वाली उड़ानें भी सुचारू रूप से जारी हैं। 

दरअसल साल 2020 के लॉकडाउन के दौरान 23 मार्च 2020 से अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानें निलंबित हैं। लेकिन मई 2020 से वंदे भारत मिशन और एयर बबल समझौते के तहत चुनिंदा जगहों के लिए विमान सेवा जारी है। भारत का 24 देशों के साथ द्विपक्षीय एयर बबल समझौता है। जहां के यात्री परमीशन लेकर यात्रा कर सकते हैं।