जनवरी में प्रतिदिन 1600 टेक कर्मचारियों की हो रही है छंटनी, वैश्विक मंदी की आहट

भारतीय सोशल मीडिया कंपनी शेयरचैट ने अनिश्चित बाजार परिस्थितियों के कारण अपने 20 प्रतिशत कर्मचारियों को बिना किसी पूर्व सूचना के निकाल दिया है, जिससे 500 से अधिक कर्मचारी और उनके परिवार प्रभावित हुए हैं

Updated: Jan 18, 2023, 09:53 AM IST

जनवरी में प्रतिदिन 1600 टेक कर्मचारियों की हो रही है छंटनी, वैश्विक मंदी की आहट
Photo Courtesy: Economic Times

नई दिल्ली। साल 2023 में दुनियाभर में आर्थिक संकट और मंदी की आशंका और गहराने लगी है। अनिश्चित अर्थव्यवस्था की वजह से तमाम कंपनियां कर्मचारियों में कटौती करने की योजना बना रही हैं। इसी बीच खबर आई है कि भारत समेत वैश्विक स्तर पर जनवरी 2023 में औसतन प्रति दिन 1,600 से अधिक टेक कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है।

लेऑफ ट्रैकिंग साइट लेऑफ्स डॉट एफवाईआई के आंकड़ों के अनुसार, 2022 में 1,000 से अधिक कंपनियों ने 154,336 कर्मचारियों की छंटनी की। 2022 में की गई बड़े पैमाने पर छंटनी नए साल में भी जारी है, और कर्मचारियों को निकालने में भारतीय कंपनियां और स्टार्टअप अग्रणी हैं।

यह भी पढ़ें: BJP सांसद तेजस्वी सूर्या ने खोला प्लेन का इमरजेंसी गेट, दो घंटे रोकनी पड़ी थी उड़ान

भारतीय सोशल मीडिया कंपनी शेयरचैट (मोहल्ला टेक प्राइवेट लिमिटेड) ने अनिश्चित बाजार स्थितियों के कारण अपने 20 प्रतिशत कर्मचारियों को निकाल दिया है, जिससे 500 से अधिक कर्मचारी प्रभावित हुए। शेयरचैट में लगभग 2,300 कर्मचारी हैं। दिसंबर 2022 में, शेयरचैट ने जीत11 नामक अपने फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म को बंद करने के बाद अपने 5 प्रतिशत से थोड़ा कम कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया।

OLA और वॉयस ऑटोमेटेड स्टार्टअप स्किट.एआई जैसी कंपनियां भी इस महीने कर्मचारियों की छंटनी को लेकर सुर्खियों में रहीं। ओला ने तकरीबन 200 कर्मचारियों को बिना कोई पूर्व सूचना के बाहर का रात दिखा दिया। घरेलू क्विक ग्रोसरी डिलिवरी प्रोवाइडर डंजो ने लागत में कटौती के उपायों के बीच अपने कर्मचारियों के 3 प्रतिशत को बाहर का रास्ता दिखा दिया।

वर्ष 2023 वैश्विक स्तर पर तकनीकी कर्मचारियों के लिए बेकार खबरों से शुरू हुआ है और इस महीने के पहले 15 दिनों में 91 कंपनियों ने 24,000 से अधिक टेक कर्मचारियों को निकाल दिया है, जो आने वाले दिनों में और भी बुरे संकेत दे रहा है। अमेजॉन ने भारत में लगभग 1,000 सहित वैश्विक स्तर पर 18,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की घोषणा की है।

अमेज़न के फाउंडर जेफ बेजोस ने बीते दिनों दुनियाभर में आने जा रही आर्थिक मंदी की चेतावनी देते हुए कहा था कि, 'अब लोगो को बुरे दिन देखने के लिए मानसिक रूप से तैयार होना होगा। लोग व्यर्थ के सामानों पर खर्च करने की बजाय अपने पैसे को बुरे वक्त के लिए बचाकर रखें।' उन्होंने सलाह दी है कि लोग त्योहार के सीजन में टीवी, फ्रिज और कार जैसी उपभोग की वस्तुओं पर अनाप-शनाप खर्च न करें और कैश बचाकर रखें।