बेशकीमती गुणों की खान है लौंग, दांत दर्द हो या कैंसर हर मर्ज में है कारगर

लौंग खाने से स्ट्रांग होगी इम्युनिटी, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल और कैंसररोधी गुणों से दूर होंगी परेशानियां

Updated: Aug 17, 2021, 07:16 PM IST

बेशकीमती गुणों की खान है लौंग, दांत दर्द हो या कैंसर हर मर्ज में है कारगर
Photo Courtesy: daily news

लौंग, देखने में छोटी सी होती है, लेकिन इसमें पाई जाने वाली कमाल की खूबियों की वजह से इसे गुणों की खान कहा जाता है, एक तरफ तो यह खाने का स्वाद बढ़ाती है, तो दूसरी तरफ दर्द से भी छुटकारा दिलाती है। मुखवास की तरह खाने के बाद पान के साथ मिलकर मुह से दुर्गंध को दूर करती है। वहीं इसके औषधीय गुण कई रोगों में कारगर होते हैं। रसोई में पाई जाने वाली लौंग की खुशबू खाने का जायका कई गुना बढ़ा देती है। जब भी दांत दर्द हो तो दवा से पहले लौंग या लौंग का तेल ही याद आता है।  

यह मल्टी विटामिन से भरपूर है, इसमें विटमिन E,C और D भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसमें फोलेट, राइबोफ्लेविन, ओमेगा 3 फैटी एसिड भी मिलता है। इसका एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण इसे दूसरे मसालों से अलग स्थान दिलाता है। आयुर्वेद में इसका बड़ा महत्व है। कई तरह की दवाओं के निर्माण में इसका उपयोग होता है।  लौंग के नियमित उपयोग से कैंसर होने का खतरा कम किया जा सकता है। यह कैंसर से होने वाली दिक्कतों को कम करती है।

लौंग में पाया जाने वाला यूजेनॉल नामक का केमिकल स्ट्रेस लेवल कम करता है। यह डायजेशन ठीक करने में मददगार है। लौंग पार्किंसन रोग में भी यह कारगर दवा की तरह काम करती है। दांतों के दर्द के लिए लौंग और उसका तेल तो रामबाण दवा का काम करते हैं। अगर रात को सोने से पहले दो लौंग पानी में उबालकर उसका पानी चाय की तरह पिया जाए तो कॉन्सटीपेशन, एसीडिटी अपच जैसी दिक्कतों में आराम मिलता है। लौंग का पानी डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत करने में मददगार है। लौंग कील मुहांसों के इलाज में भी कारगर होती है। इसमें पाया जाने वाला सैलिसिलेट मुंहासों को खत्म कर देता है।

दांतों में दर्द औऱ कीड़े लगने की स्थिति में लौंग को गर्म पानी के साथ उपयोग करने से दर्द जल्दी ठीक हो जाता है। लौंग के तेल से मसूढ़ों की मालिश भी दांतों के लिए फायदेमंद होती है।

मुंह से आने वाली बदबू की वजह से कई बार दिक्कतों का सामान करना पड़ता है। ओरल कैवेटी में बैक्टीरिया खत्म करने में लौंग कारगर होती है। लौंग और अदरक वाली चाय पीने से सर्दी जुकाम में आराम मिलता है। इससे गले की खराश दूर होती है। लौंग को भूनकर उसका पाउडर शहद के साथ मिलाकर खाने से पुरानी से पुरानी खांसी भी ठीक हो जाती है। वहीं किसी भी तरह के वायरल इन्फेक्शन, ब्रोंकाइटिस, साइनस, अस्थमा में भी लौंग खाने से लाभ मिलता है। लौंग की तासीर गर्म होती है। अगर किसी को हाथ-पैरों में कंपकपी महसूस होती हो तो गर्म पानी के साथ 2 लौंग खाने से आराम मिलता है।

लौंग भूख बढ़ाती है, अगर आप यात्रा में हैं या किसी अन्य वजह से उल्टी हो रही है यह उल्टी कम करने में मददगार है। ज्यादा प्यास लगने की स्थिति में लौंग खाने से प्यास का अहसास नहीं होता है।