थाईलैंड के चाइल्ड केयर सेंटर में अंधाधुंध फायरिंग, 22 बच्चों समेत 34 लोगों को गोलियों से भूना

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हमलावर ने भी खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली है। वह पूर्व पुलिस अफसर बताया जा रहा है। फायरिंग के कारणों का पता नहीं चल सका है।

Updated: Oct 06, 2022, 02:52 PM IST

थाईलैंड के चाइल्ड केयर सेंटर में अंधाधुंध फायरिंग, 22 बच्चों समेत 34 लोगों को गोलियों से भूना

थाईलैंड में गुरुवार को उस वक्त कोहराम मच गया, जब एक चाइल्ड केयर सेंटर पर अंधाधूंध गोलीबारी होने लगी। इस दौरान चारों तरफ चीख-पुकार मच गई। थाईलैंड के पूर्वोत्तर प्रांत में हुई इस मास शूटिंग में 34 लोग मारे गए है, जिनमें 22 बच्चे शामिल हैं। इस घटना से थाईलैंड थर्रा उठा है। 

अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने एक बयान में कहा कि बंदूकधारी एक पूर्व पुलिस अधिकारी था। उसकी पहचान 34 साल के पन्या कामराब के रूप में हुई है। आरोपी को ड्रग्स केस में शामिल होने के कारण पुलिस की नौकरी से निकाल दिया गया था। इसके बाद उसने इस घटना को अंजाम दिया।

यह भी पढ़ें: मां के जूतों के फीते बांधते नजर आए राहुल गांधी, कर्नाटक से भारत जोड़ो यात्रा का मार्मिक दृश्य

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया जा रहा है कि हमलावर ने अपनी पत्नी, बच्चे समेत खुद को गोली भी गोली मार ली। इस घटना के जो वीडियो सामने आए हैं। उनमें साफ दिख रहा है कि लोग फायरिंग से बचते दिख रहे हैं।

बता दें कि थाईलैंड में गन ऑनरशिप की दर कुछ अन्य देशों की तुलना में अधिक है। अवैध हथियार भी यहां आम हैं। हालांकि, थाईलैंड में इस तरह की बड़ी गोलीबारी की घटना कम ही होती है। साल 2020 में भी एक प्रोपर्टी डील से नाराज सैनिक की चार स्थानों पर की गई फायरिंग में कम से कम 29 लोग मारे गए थे और 57 लोग घायल हो गए थे।