ब्रिटेन: भारतीय मूल के छात्र को भारी पड़ा लड़की का पीछा, चार महीने जेल और यूनिवर्सिटी से निष्कासित

ऑक्सफोर्ड ब्रुक्स यूनिवर्सिटी का छात्र साहिल भवनानी करता था छात्रा का पीछा, यूके कोर्ट ने चार महीने की कैद, दो साल के निलंबन और पांच साल के प्रतिबंध की सजा सुनाई है

Updated: Dec 11, 2021, 10:35 AM IST

ब्रिटेन: भारतीय मूल के छात्र को भारी पड़ा लड़की का पीछा, चार महीने जेल और यूनिवर्सिटी से निष्कासित
Photo Courtesy: The Indian Express

लंदन। ब्रिटेन में एक भारतीय मूल के छात्र को यूनिवर्सिटी की छात्रा का पीछा करना भारी पड़ गया है। ब्रिटेन की एक अदालत आरोपी छात्र को चार महीने कैद और 2 साल के लिए कॉलेज से निष्कासन की सजा सुनाई है। 22 वर्षीय आरोपी छात्र साहिल भवनानी पर पांच साल के प्रतिबंध भी लगाया गया है।

दरअसल, ऑक्सफोर्ड ब्रुक्स यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली एक नर्सिंग की छात्रा ने इंजीनियरिंग के छात्र भवनानी पर पीछा करने एवं परेशान करने का आरोप लगाया था। छात्रा के मुताबिक आरोपी बुरी तरह से उसके पीछे पड़ा है। साहिल ने उसे धमकाते हुए 100 पन्ने का पत्र लिखा था। साथ ही 6 मिनट का एक ऑडियो मैसेज भी भेजा जिसमें उसने कहा कि वह उसे पत्नी बनाना चाहता है और बच्चे पैदा करना चाहता है।

यह भी पढ़ें: महिला के साथ भारतीय दूतावास में अफसर ने किया दुर्व्यवहार, पिता की मौत के बाद वीजा लेने पहुंची थी महिला

पीड़ित लड़की ने कहा कि उसने भवनानी को बार-बार समझाया कि वह उसके साथ किसी तरह का कोई संबंध रखना नहीं चाहती। उसने पुलिस से शिकायत करने की चेतावनी भी दी लेकिन भवनानी अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। अंत में पीड़िता ने भवनानी के खिलाफ़ पुलिस में शिकायत की और कहा कि मुझे डर है कि भवनानी मेरा यौन शोषण करेगा।

मामले में कई दौर की सुनवाई के बाद ऑक्सफोर्ड क्राउन कोर्ट ने भवनानी को दोषी करार देते हुए सजा सुनाया। जज निगेल डेली ने कहा कि कॉलेज से निष्कासन के दौरान आरोपी को ब्रिटेन छोड़कर पिता के साथ हॉन्गकॉन्ग जाना होगा। जज ने भवनानी को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि यदि वह आदेश का उल्लंघन करता है तो उसे अधिकतम पांच साल की कैद की सजा होगी। कोर्ट ने उम्मीद जताया है कि लड़की के प्रति भवनानी का जुनून खत्म होगा।