श्योपुर के बाद नर्मदापुरम में भी फैली संक्रामक बीमारी, तीन की मौत और 16 से ज्यादा लोग बीमार

श्योपुर में उल्टी दस्त की शिकायत के बाद हो चुकी है पांच लोगों की मौत, दर्जनों गांव के सैंकड़ों रहवासी हैं बीमार, अब नर्मदापुरम में भी एक ही मोहल्ले के तीन लोगों की हुई संदिग्ध मौत

Updated: Jul 28, 2022, 09:51 PM IST

श्योपुर के बाद नर्मदापुरम में भी फैली संक्रामक बीमारी, तीन की मौत और 16 से ज्यादा लोग बीमार

नर्मदापुरम। मध्य प्रदेश के श्योपुर के बाद अब नर्मदापुरम के एक गांव में भी संक्रामक बीमारी फैलने की जानकारी सामने आई है। यहां एक ही मोहल्ले के तीन लोगों की संदिग्ध मौत हो गई है। जबकि करीब 16 लोग बीमार बताए जा रहे हैं। सभी लोगों को श्योपुर के मरीजों की तरह ही उल्टी और दस्त की शिकायत बातायी जा रही है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला नर्मदापुरम के बागरातवा गांव का है। बुधवार को यहां मां-बेटे समेत एक ही मोहल्ले के तीन लोगों की संदिग्ध मौत से हड़कंप मच गया। जिसके बाद खुद कलेक्टर नीरज कुमार समेत प्रशासन के अफसर मौके पर पहुंचे। कलेक्टर के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने गांव में कैंप लगाकर सर्वे किया। ग्रामीणों को क्लोरीन की टैबलेट और ओआरएस पाउडर के पैकेट बांटे गए।

यह भी पढ़ें: जनपद पंचायत चुनाव में कांग्रेस का शानदार प्रदर्शन, 167 सीटों पर कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों ने जमाया कब्जा

नर्मदापुरम के सीएमएचओ डॉ. दिनेश दहलवार का कहना है कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। पानी के सैंपल लिए गए हैं। आशंका है कि गंदे पानी के कारण संक्रमण फैला है। बताया जा रहा है कि 16 में से 8 मरीजों की हालत गंभीर होने के कारण उन्हें माखननगर सीएचसी रेफर किया। जबकि सामान्य मरीजों को उप स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती किया गया है। 

जानकारी मिली है कि गांव में उपस्वास्थ्य केंद्र के अलावा एक प्राइवेट डॉक्टर है। उप स्वास्थ्य केंद्र के साथ उस प्राइवेट डॉक्टर के क्लीनिक पर भी उल्टी-दस्त के मरीजों की भीड़ लगी है। पीएचई विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर एसके गुप्ता ने बताया कि नलजल योजना की पाइप लाइन से गांव में पानी सप्लाई होता है। पेयजल सप्लाई होने वाली टंकी, ट्यूबवेल और घरों से पानी का सैंपल लिया। टेस्टिंग के लिए उसे लैब में भेजा जाएगा। पानी की टेस्टिंग के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। 

जानकारी के मुताबिक बागरातवा गांव से 3 किमी दूर विस्थापित गांव रोरीघाट में भी इसी तरह के मामले सामने आए हैं। यहां भी गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची। रोरीघाट में 3 बच्चों समेत 7 लोग उल्टी-दस्त और पेट दर्द से ग्रसित मिले हैं। इन सभी को भी तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र माखननगर रेफर किया है। पड़ोसी गांव में मौत की घटना के बाद यहां के लोग भी डरे हुए हैं।

यह भी पढ़ें: श्योपुर के एक और गांव में फैला संक्रामक बीमारी, दो लोगों की मौत, 50 से अधिक लोग बीमार

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से श्योपुर जिले के विजयपुर तहसील से इस तरह के सैंकड़ों मामले आ चुके हैं और पांच लोगों की मौत भी हो चुकी है। विजयपुर के चकपरोंद गांव ने इसी तरह तीन लोगों की मौत हुई औरदर्जनों लोग बीमार पाए गए। इसके बाद सेवापुर गांव में दो लोगों की मौत हो गई और 50 से अधिक बीमार बताए गए। बिगड़ते हालातों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों ने ग्वालियर मेडिकल कॉलेज की एक टीम को भी विजयपुर बुलवा लिया है। वे कैंप लगाकर मरीजों का इलाज कर रहे हैं। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विजयपुर में कई गांव ऐसे हैं, जहां लोगों को उल्टी दस्त की शिकायत है।