Statue Damaged: सिंधिया के क्षेत्र में अंबेडकर का अपमान

Kamal Nath: दोषियों पर कड़ी कारवाई की मांग, उप चुनाव के पहले दलितों पर हमले के मामले में घिरी BJP

Updated: Aug-07, 2020, 01:57 AM IST

Statue Damaged: सिंधिया के क्षेत्र में अंबेडकर का अपमान
Photo courtesy: patrika

शिवपुरी। शिवपुरी में संविधान निर्माता बाबा साहेब अंबेडकर की मूर्ति को क्षति पहुंचाई गई है। पुलिस ने घटना को संज्ञान में लेते हुए अज्ञात युवक पर मामला दर्ज कर लिया है। घटना के बाद क्षेत्र में आक्रोश है। BJP नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के क्षेत्र में दलितों पर हमले का यह दूसरा मामला है। इसके पहले गुना में सरकारी जमीन खाली कराए जाने को लेकर पुलिस ने एक दलित परिवार की बुरी तरह पिटाई की थी। अब बाबा साहब की मूर्ति क्षतिग्रस्त की  गई है। इस मुद्दे पर BJP सरकार घिरती जा रही है। 

दरअसल बुधवार देर रात तकरीबन 10.45 बजे नकाबपोश अज्ञात युवक ने शिवपुरी ज़िले के पिछोर नगर तहसील के समीप बस स्टैंड पर लगी बाबा साहेब की मूर्ति को नुक़सान पहुंचा दिया। जिसके बाद युवक तुरंत फरार हो गया। युवक की इस हरकत को सीसीटीवी कैमरे में कैद कर लिया है। पुलिस युवक के तलाश में जुट गई है। 

पहले गुना अब शिवपुरी : दलित मुद्दे पर BJP सरकार से नाराज़गी 

मध्य प्रदेश में उप चुनाव के पहले क्षेत्र में इस घटना के बाद सियासत गरमा गई है। इस अंचल की 16 सीटों पर आने वाले समय में उपचुनाव हैं और उपचुनाव वाली विधानसभा सीटों पर बड़ी संख्या में दलित वोटर हैं। ऐसे में सत्ताधारी दल बीजेपी के लिए दलितों की नाराजगी भारी पड़ सकती है।घटना को लेकर अपना विरोध दर्ज कराते हुए बसपा के नेताओं ने स्थानीय पुलिस को ज्ञापन भी सौंप दिया है। BJP नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने तुरंत ट्वीट कर घटना की निंदा की। वहीं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने जल्द से जल्द इस मामले पर कार्रवाई करने की मांग की है।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पूरे घटनाक्रम पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा है कि 'शिवपुरी के पिछोर नगर में बाबा साहेब डॉ.भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा खंडित किये जाने की जानकारी मिली है।जब से प्रदेश में शिवराज सरकार आयी है, प्रदेश में अनुसूचित जनजाति व अनुसूचित जाति वर्ग के उत्पीड़न की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है।'

कमल नाथ ने मामले पर यथाशीघ्र जांच की मांग करते हुए अपने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि 'मैं सरकार से माँग करता हूँ कि तत्काल इसके दोषियों को चिन्हित कर उन पर कड़ी से कड़ी कारवाई हो।बाबा साहेब की प्रतिमा को वापस पुराने स्वरुप में ससम्मान स्थापित किया जावे व प्रतिमा की सुरक्षा के सभी इंतज़ाम किए जाए।

पहले भी हो चुका है ऐसा मामला

बता दें कि इस क्षेत्र में इससे पहले भी बाबा साहब की प्रतिमा के साथ छेड़छाड़ हो चुकी है। करीब 4 साल पहले भी यहां बाबा साहब की मूत्रि को खंडित किया गया था। इसके अलावा भिंड, दतिया आदि इलाकों में भी पहले डॉ. अम्बेडकर की मूर्ति पर विवाद की खबरें आती रही हैं।