राघौगढ़ में सन 1971 से BJP कभी परिषद नहीं बना पाई, नरोत्तम मिश्रा के गलत बयान पर दिग्विजय सिंह का पलटवार

नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि दिग्विजय सिंह ने जिस राघौगढ़ से राजनीतिक करियर की शुरुआत की वहां कांग्रेस को सिर्फ 3 सीटें मिली, जबकि राघौगढ़ नगर पालिका में अभी चुनाव ही नहीं हुए हैं

Updated: Jul 19, 2022, 06:23 PM IST

राघौगढ़ में सन 1971 से BJP कभी परिषद नहीं बना पाई, नरोत्तम मिश्रा के गलत बयान पर दिग्विजय सिंह का पलटवार

भोपाल। मध्य प्रदेश में निकाय चुनावों के नतीजों को लेकर सियासत गर्म है। बीजेपी को कई नगर निगमों में झटका लगा है। इसी बीच प्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने एक अजीबोगरीब दावा कर दिया। मिश्रा ने कहा कि जिस राघौगढ़ से दिग्विजय सिंह ने राजनीति शुरू की थी वहां कांग्रेस सिर्फ तीन सीटें जीती है। हालांकि, असलियत ये है कि राघौगढ़ में अभी चुनाव ही नहीं हुए है। मिश्रा के इस झूठे बयान पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने पलटवार करते हुए बताया है कि सन 1971 से एक भी बार बीजेपी राघौगढ़ में परिषद नहीं बना पाई है।

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने नरोत्तम मिश्रा के बयान पर जवाब देते हुए लिखा कि, 'प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का सूचनातंत्र इतना कमज़ोर है कि उन्हें यह तक नहीं मालूम कि हालिया हुए स्थानीय चुनावों में राघौगढ़ नगरपालिका का चुनाव ही नहीं हुआ।' सिंह ने मिश्रा को दो दो हाथ करने की चुनौती भी दे डाला। 

कांग्रेस नेता ने आगे लिखा कि, 'मौजूदा राघौगढ़ परिषद का अध्यक्ष कांग्रेस से और 24 में से 22 पार्षद भी कांग्रेस के ही हैं। 1971 से भारतीय जनसंघ व भाजपा एक बार भी परिषद नहीं बना पाई। बिना पुलिस के संरक्षण में नरोत्तम जी आप दतिया भी नहीं जीत पाते। आइए 2023 में दो दो हाथ हो जाए।'

यह भी पढ़ें: CM को बोल दे, जो हश्र करूंगी तुम्हारे बाप ने भी नहीं सोचा होगा, जिपं अध्यक्ष पद के लिए भाजपा में सिर फुटौव्वल

बता दें कि गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज मीडिया से बातचीत के दौरान दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'दिग्विजय सिंह जी ने जिस राघौगढ़ नगर पालिका से अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की थी वहां कांग्रेस को सिर्फ 3 सीटें मिली हैं फिर भी दिग्विजय सिंह खुश हैं। वैसे भी दिग्विजय जी की गलती कम है, टिकट तो कमलनाथ जी ने ही बांटे थे।'