गली-मोहल्ले में बिक रही शराब, चुनाव जीतने के लिए एक्शन लेना होगा, बीजेपी MLA ने अपनी ही सरकार को घेरा

पाटन विधायक अजय विश्नोई ने कहा कि 2023 में यदि जीत पक्की करनी है तो शराब को लेकर कड़ा निर्णय सरकार को लेना होगा। उन्होंने पूर्ण शराबबंदी का समर्थन तो नहीं किया, लेकिन कहा कि गली-मोहल्लों में शराब की बिक्री गलत है।

Updated: Nov 03, 2022, 01:22 PM IST

गली-मोहल्ले में बिक रही शराब, चुनाव जीतने के लिए एक्शन लेना होगा, बीजेपी MLA ने अपनी ही सरकार को घेरा

भोपाल। शराब नीति को लेकर मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार चौतरफा घिरी हुई है। विपक्ष के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भी मोर्चा खोल रखा है। इसी बीच जबलपुर के पाटन से भाजपा विधायक अजय विश्नोई ने भी शराब के मुद्दे पर अपनी ही सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि अगली बार यदि चुनाव जीतना है तो एक्शन लेना होगा। 

भाजपा विधायक अजय विश्नोई ने कहा कि आज पूरे मध्य प्रदेश में गांव-गांव शराब की बिक्री हो रही है। ये अब सामाजिक बुराई के रूप में बढ़कर कहीं न कहीं अभिशाप बन गई है। विधायक ने इस मामले में सीएम शिवराज को पत्र लिखा है और उनसे शराब माफिया पर तत्काल एक्शन लेने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: MP: पशुओं को खुला छोड़ना मालिक को पड़ेगा भारी, सड़कों पर मिले मवेशी तो चुकाना होगा 1 हजार रुपए जुर्माना

अजय विश्नोई ने अपनी ही सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि जब हम उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का अनुसरण कर ही रहे हैं, तो यूपी की तरह यहां भी गांव-गांव शराब की बिक्री रोकी जानी चाहिए। अगर सरकार गांवों में शराब बिक्री पर रोक लगा देती है, तो इसका फायदा आगामी चुनाव में बीजेपी को मिलेगा। हर बूथ पर पार्टी को कम से कम 100 वोट अतिरिक्त मिल जाएंगे, क्योंकि जनता भी अवैध शराब बिक्री से परेशान है।

विश्नोई ने कहा कि उत्तर प्रदेश में समय से शराब की दुकान खुलती है और समय से ही बंद होती है। किसी माई के लाल में दम नहीं हैं कि दुकान के अलावा बाहर शराब बिकवा दे। कुछ इसी तरह का अगर मध्य प्रदेश में भी प्रयास किया जाए, तो उससे गांव की जनता ना सिर्फ सहज महसूस करेगी, बल्कि चुनाव में इसका सीधे-सीधे लाभ भाजपा को मिलेगा।