गाय के गोबर और गौमूत्र से मजबूत हो सकती है देश की अर्थव्यवस्था, MP के सीएम का दावा

सीएम शिवराज चौहान ने यह बात शनिवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही, सीएम ने कहा कि अगर सही सिस्टम से काम किया जाए तो गाय के गोबर और गौमूत्र से इस देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती दी जा सकती है

Publish: Nov 14, 2021, 09:23 AM IST

गाय के गोबर और गौमूत्र से मजबूत हो सकती है देश की अर्थव्यवस्था, MP के सीएम का दावा

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर अपने आलोचकों के निशाने पर हैं। लेकिन इस बार आलोचना की वजह सीएम को आसामनी घोषणाएं नहीं, बल्कि उनका अजीबोगरीब बयान है। सीएम शिवराज का दावा है कि गाय के गोबर और गौमूत्र से इस देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिल सकती है। 

सीएम शिवराज ने यह दावा शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान किया। सीएम शिवराज भोपाल में भारतीय वेटनरी को महिला विंग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान सीएम ने यह कह दिया कि अगर सिस्टम से काम किया जाए तो गाय के गोबर और गौमूत्र से देश की अर्थव्यवस्था तक को मजबूती मिल सकती है। गोबर और गौमूत्र देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में अहम कड़ी साबित हो सकता है। 

सीएम ने अपने संबोधन में कहा कि अगर हम चाहें तो इनसे अपनी अर्थव्यवस्था भी सदृढ़ कर सकते हैं और खुद को आर्थिक तौर पर सक्षम बना सकते हैं। सीएम ने कहा कि बिना गाय और बैल के हमारा काम नहीं चल सकता। सीएम ने गौशालाओं का ज़िक्र छेड़ते हुए कहा कि सरकार ने तो गौशालाएं बना दी। लेकिन जब तक समाज नहीं जुड़ेगा तब तक इन गौशालाओं से काम नहीं चलेगा। 

हालांकि यह पहली बार नहीं है जब सीएम ने लोगों ने गाय का गोबर और गौमूत्र उपयोग में लाने की बात कही हो। सीएम इससे पहले भी यह बात कह चुके हैं कि समाज को स्वस्थ रखने के लिए गाय के गोबर और गौमूत्र का उपयोग आवश्यक है। सीएम के नए बयान को लेकर सोशल मीडिया पर तरह तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। 

सोशल मीडिया यूजर्स सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ देश का वित्त मंत्री बनने की सलाह दे रहे हैं। लोगों का कहना है कि वैसे ही देश की अर्थव्यवस्था इस समय बेपटरी है, ऐसे में सीएम को वित्त मंत्री की जिम्मेदारी संभाल कर गाय के गोबर और गौमूत्र की सहायता से डगमगाई अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करनी चाहिए।