मध्य प्रदेश में 15 सितंबर से खुलेंगे सभी कॉलेज, 50 फीसदी छात्रों को आने की अनुमति

शिक्षकों के साथ छात्रों और सभी स्टाफ का वैक्सीनेटेड होना ज़रूरी, कम से कम वैक्सीन की एक डोज़ लगाने वालों को ही मिलेगी कॉलेज में प्रवेश की अनुमति

Publish: Aug 28, 2021, 06:30 PM IST

मध्य प्रदेश में 15 सितंबर से खुलेंगे सभी कॉलेज, 50 फीसदी छात्रों को आने की अनुमति

भोपाल। स्कूलों के बाद अब मध्य प्रदेश में कॉलेजों को भी खोले जाने की घोषणा हो गई है। उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने यह घोषणा की है कि प्रदेश के सभी कॉलेज आगामी 15 सितंबर से खोल दिए जाएंगे। हालांकि प्रारंभिक तौर पर कॉलेज में 50 फीसदी छात्रों को ही प्रवेश की अनुमति मिलेगी। बाकी छात्र ऑनलाइन माध्यम से क्लास कर सकेंगे।  

प्रदेश में कॉलेज खोले जाने की घोषणा के साथ साथ यह शर्त भी जोड़ी गई है कि कॉलेज के तमाम शिक्षकों, स्टाफ और छात्रों को कम से कम वैक्सीन की एक डोज लगाना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही उच्च शिक्षा मंत्री ने इस बात का भी आश्वासन दिया है कि ज़रूरत पड़ने पर कॉलेज में भी टीकाकरण शिविर लगाए जाएंगे। अहम बात यह कि छात्रावासों के संबंध में राज्य सरकार ने अब तक कोई निर्णय नहीं लिया है। इस बारे में एक सितंबर को होने वाली बैठक के दौरान निर्णय लिया जाएगा।  

मध्य प्रदेश में कोरोना काल के बाद से ही पढ़ाई पूरी तरह से ठप है। ऑनलाइन कक्षाएं ज़रूर नियमित तौर पर चल रही हैं, लेकिन ऑनलाइन कक्षाओं के ज़रिए छात्र शिक्षा का कितना लाभ उठा पा रहे हैं यह बड़ा सवाल है। ऑनलाइन कक्षाओं में छात्रों की अनुपस्थिति भी एक समस्या है। वहीं विषयों के प्रैक्टिल ज्ञान से भी ज़्यादातर छात्र अभी वंचित हैं। कॉलेज खुलने के बाद इन समस्याओं का निवारण हो सकेगा।  

दूसरी तरफ प्रदेश मेंं कोरोना भी इस समय नियंत्रण में है। प्रदेश में इस समय कोरोना के 79 एक्टिव केस हैं। वहीं पॉज़िटिविटी रेट भी इस समय 0.01 फीसदी है।