शिवराज ने विधानसभा के सच को जनसभा में बताया झूठ, कहा, हमने दी किसानों को हरियाली

शिवराज सरकार ने विधानसभा में लिखकर माना था कि कांग्रेस सरकार ने प्रदेश के 27 लाख किसानों का कर्ज़ माफ किया था

Updated: Dec 16, 2020, 10:22 PM IST

शिवराज ने विधानसभा के सच को जनसभा में बताया झूठ, कहा, हमने दी किसानों को हरियाली
Photo Courtesy : Scroll.in

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर किसानों की कर्जमाफी को लेकर प्रदेश की पिछली कांग्रेस की सरकार पर हमला बोला है। शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में आयोजित किसानों के एक सम्मेलन में कहा कि कांग्रेस ने किसानों को एक धेला नहीं दिया, जबकि हमने केवल आठ महीने में किसानों के खेतों में हरियाली ला दी। शिवराज सिंह ने कांग्रेस पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने कर्जमाफी के नाम पर किसानों को धोखा देने के अलावा कुछ नहीं किया।

शिवराज ने विधानसभा के सच को जनसभा में बताया झूठ 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का ये दावा उन्हीं की सरकार के विधानसभा में दिए लिखित जवाब के खिलाफ है। शिवराज सिंह चौहान सभा में दावा कर रहे हैं कि कांग्रेस ने अपने 15 महीने के कार्यकाल में किसानों का कर्ज़ माफ नहीं किया। जबकि विधानसभा में खुद शिवराज के कृषि मंत्री कमल पटेल लिखित जवाब में यह बात स्वीकार कर चुके हैं कि कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में 27 लाख 97 हज़ार किसानों का कर्ज़ माफ किया था। 

यह भी पढ़ें : शिवराज सरकार ने माना, कमलनाथ सरकार में हुई थी किसान कर्जमाफी

लेकिन शिवराज अपनी ही सरकार की स्वीकारोक्ति को सिरे से खारिज कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ उपचुनाव से पहले शिवराज चौहान को किसानों की कर्ज़ माफी का रिकॉर्ड एक पेन ड्राइव में देकर भी आए थे। फिर भी शिवराज ने किसानों की कर्ज़ माफी के मुद्दे पर कांग्रेस पर हमला बंद नहीं किया। वही सिलसिला अब तक जारी है। ऐसे में सवाल यह है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सभाओं में किए गए दावों पर यकीन किया जाए या उन्हीं की सरकार की तरफ से विधानसभा में दिए गए आधिकारिक जवाब पर ? 

यह भी पढ़ें : Jitu Patwari: कृषि मंत्री कमल पटेल ने क्या विधानसभा में भांग खा कर दिया था जवाब

बीजेपी में झूठ बोलने की राष्ट्रव्यापी स्पर्धा चल पड़ी है : केके मिश्रा 
बहरहाल शिवराज के बयान को लेकर कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला है। केके मिश्रा ने कहा है कि बीजेपी में इस समय झूठ बोलने की राष्ट्रव्यापी स्पर्धा चल पड़ी है। केके मिश्रा ने शिवराज को याद दिलाते हुए कहा है कि उनकी ही सरकार ने विधानसभा में इस बात को लिखित तौर पर यह स्वीकारा था कि कांग्रेस की सरकार ने 26 लाख किसानों का कर्ज़ माफ किया था। केके मिश्रा ने कहा कि इतनी जल्दी तो गिरगिट भी रंग नहीं बदलता है, जितनी जल्दी शिवराज बदलते हैं।

 

प्रदेश में खेती घाटे का धंधा बन चुकी है: कमल नाथ 
वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमल नाथ ने भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। कमल नाथ ने कहा है कि आज प्रदेश का किसान कर्ज के दलदल में फंसकर सबसे ज़्यादा आत्महत्या कर रहा है। प्रदेश में खेती घाटे का धंधा बन चुकी है। इसी से शिवराज की किसानों को लेकर की जाने वाली हवा हवाई घोषणाओं की हकीकत व सच्चाई समझी जा सकती है? 

कमल नाथ ने आगे कहा कि शिवराज की किसानों के लिए पिछले 17 वर्षों से की गई घोषणाओं का हिसाब लगाया जाए तो हमारे प्रदेश के किसान को आज देश में सबसे समृद्ध होना चाहिए था, लेकिन मध्य प्रदेश की स्थिति इसके बिल्कुल विपरीत है।