Kamal Nath: शिवराज सिंह ने युवाओं को ठगा तो हम चुप नहीं बैठेंगे

Government Jobs in MP: प्रदेश के ही युवाओं को सरकारी नौकरी देने के शिवराज सरकार के फैसले पर बोले कमलनाथ, केवल चुनावी घोषणा बनकर न रह जाए

Updated: Aug-18, 2020, 10:13 PM IST

Kamal Nath: शिवराज सिंह ने युवाओं को ठगा तो हम चुप नहीं बैठेंगे
photo courtesy : DNA

भोपाल। मध्य प्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरी देने के लिए शिवराज सरकार ने एक बड़ा ऐलान किया है। जिसमें कहा गया है कि केवल मध्य प्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरियां मिल सकें इसके लिए कानूनी कदम उठाए जाएंगे। सरकार के इस एलान को कांग्रेस ने एक बार फिर चुनावी वादा करार दिया है। कांग्रेस का कहना है कि सरकार 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए यह घोषणा की है।

पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि यह ऐलान पहले की घोषणाओं की तरह सिर्फ एक घोषणा बन कर ना रह जाए। बीजेपी सरकार 15 वर्ष बाद युवाओं के रोज़गार को लेकर नींद से जागी है। बीजेपी सरकार कांग्रेस के निर्णय के अनुरूप ही प्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।अब प्रदेश के युवाओं का हक़ पहले की तरह नहीं छीना जाए। युवाओं से किए गए वादे निभाए जाएं,नहीं तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी।

Click Shivraj Singh: प्रदेश में सरकारी नौकरी सिर्फ एमपी के बच्चों को

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने ट्वीट संदेश में कहा है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में सरकार ने युवाओं को रोजगार देने के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए थे। कांग्रेस का कहना है कि कांग्रेस की ही सोच रही है कि प्रदेश के युवाओं को ही सरकारी नौकरी में प्राथमिकता मिले। उन्होने कहा है कि इसके लिए कांग्रेस की 15 महीने की सरकार के दौरान कई प्रावधान किए गए।

कांग्रेस ने 70 % स्थानीय युवाओं को रोजगार की पहल की थी

कमलनाथ ने कहा है कि बीजेपी के 15 साल के कार्यकाल में प्रदेश में बेरोजगारी की स्थिति किसी से छुपी नहीं है। उनका कहना है कि कांग्रेस सरकार बनते ही उद्योग नीति में परिवर्तन कर 70% प्रदेश के स्थानीय युवाओं को रोज़गार देना अनिवार्य किया गया था। कांग्रेस सरकार ने ही युवा स्वाभिमान योजना लागू की थी, ताकि मध्य प्रदेश के युवाओं को रोज़गार मिले,  इसके लिये कई महत्वपूर्ण निर्णय किए गए थे। आपकी 15 साल की सरकार में प्रदेश में बेरोज़गारी की क्या स्थिति रही, यह किसी से छिपी नहीं।

बीजेपी सरकार के कार्यकाल में रोजगार के लिए भटके डिग्रीधारी युवा

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि बीजेपी के 15 साल के कार्यकाल में प्रदेश के युवा हाथों में डिग्री लेकर नौकरी के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर थे। चपरासी और क्लर्क की नौकरी के लिए हजारों डिग्रीधारी लाइनों में लगते रहे हैं। पर उन्हे रोजगार नहीं मिलता था।

 15 साल में युवाओं को मिले रोजगार के आंकड़े उजागर करें 

कांग्रेस नेता कमल नाथ ने कहा कि प्रदेश में मज़दूरों और ग़रीबों के आँकड़े इसकी वास्तविकता खुद बयां कर रहे हैं। बीजेपी सरकार अपने पिछले 15 वर्ष के कार्यकाल में कितने युवाओं को रोज़गार दिया है, यह आंकड़ा उजागर होना चाहिए।