कांग्रेस नेता की हत्या के लाइव वीडियो से सनसनी, पूर्व सीएम कमलनाथ ने कानून व्यवस्था पर खड़ा किया सवाल

चुनावी रंजिश में ब्लॉक अध्यक्ष छोटे राजा को दो हमलावरों ने घेरकर गोली मार दी। आरोपियों पर 10 हजार का इनाम घोषित

Updated: Mar 18, 2021, 01:38 PM IST

कांग्रेस नेता की हत्या के लाइव वीडियो से सनसनी, पूर्व सीएम कमलनाथ ने कानून व्यवस्था पर खड़ा किया सवाल
Photo courtesy:zee news

भोपाल। छतरपुर जिले के घुवारा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष इंद्र प्रताप सिंह परमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। इस हत्या का लाइव वीडियो होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। जब कांग्रेस नेता को गोली लगी उस वक्त वे होटल के बाहर खड़े थे। उसी समय बाइक से हेलमेट पहने दो युवक पहुँचे और दो राउंड गोली चलाई जिसमें एक मिस हो गयी दूसरी गोली उनके पेट मे लगी। आरोपी वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए।  गोली लगने के बाद इन्द्र प्रताप सिंह परमार को आनन-फानन में स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। हालत गंभीर होने पर उन्हें जिला अस्पताल रेफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है। वारदात को उस वक्त अंजाम दिया गया जब इंद्र प्रताप परमार आयुष होटल के सामने अपने एक साथी के साथ खड़े हुए थे।

 

 

कांग्रेस नेता इंद्र प्रताप सिंह की हत्या को आपसी रंजिश माना जा रहा  है। पुलिस ने हाकिम सिंह, मोर पाल सिंह, हरदेव सिंह, इमरत लोधी, रामकृपाल लोधी, हरिचरन लोधी पर हत्या का मामला दर्ज किया है। साथ ही आरोपियों पर 10-10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 15 सदस्यीय पुलिस टीम लगाई गई है। 

इस घटना को लेकर पूर्व सीएम और एमपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दुख जताया और प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं। पूर्व सीएम कमलनाथ ने एक ट्वीट में लिखा कि 'घुवारा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष इंद्र प्रताप सिंह की गोली मारकर हत्या किये जाने की दुखद खबर प्राप्त हुई. परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं। मैं सरकार से मांग करता हूं कि तत्काल आरोपियों का पता लगाकर उनकी गिरफ्तारी हो, उन पर कड़ी से कड़ी कार्यवाई हो.'
पूर्व सीएम कमलनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा कि 'प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बेहद चिंताजनक है, आज प्रदेश में कोई भी सुरक्षित नहीं है, प्रदेश में हत्याएं, अपहरण, दुष्कर्म, लूट जैसी घटनाएं रोज घटित हो रही है ? जिम्मेदार पश्चिम बंगाल, असम में चुनाव प्रचार में जाकर प्रदेश में सुशासन की बड़ी- बड़ी डिंगे हांक रहे हैं.'

कांग्रेस नेता की हत्या के बाद बड़ा मलहरा में अगले दिन भी तनाव की स्थिति निर्मित हो गई। कांग्रेस नेता की हत्या से भड़के समर्थकों ने छतरपुर और बड़ामलहरा में प्रदर्शन किया। मौके पर 4 जिलों की पुलिस फोर्स तैनात की गई है। पुलिस ने 6 आरोपियों पर हत्या का मामला किया दर्ज किया है। SP सचिन शर्मा ने हत्यारों पर 10 हजार का इनाम घोषित किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 15 सदस्यीय पुलिस टीम लगाई गई है। इंद्र प्रताप मूल रुप से पठिया गांव के रहने वाले थे। उनके बड़े भाई भगवत सिंह सरपंच रह चुके हैं, जबिक भाभी जिला पंचायत सदस्य रही हैं। 6 साल पहले भगवत सिंह का भी मर्डर हो गया था।