भोपाल में कांग्रेस का नगरीय निकाय सम्मेलन, जयवर्धन बोले- अब पनौती बीजेपी में, इसलिए ग्वालियर में हुई जीत

रविंद्र भवन में कांग्रेस का भव्य नगरीय निकाय सम्मेलन, पीसीसी चीफ कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह, पार्टी के सभी निर्वाचित मेयर और पार्षद रहे मौजूद

Updated: Oct 12, 2022, 02:38 PM IST

भोपाल में कांग्रेस का नगरीय निकाय सम्मेलन, जयवर्धन बोले- अब पनौती बीजेपी में, इसलिए ग्वालियर में हुई जीत

भोपाल। मिशन 2023 को लेकर जुटी कांग्रेस ने आज राजधानी भोपाल में नगरीय निकाय सम्मेलन कर रही है। इस सम्मेलन में पीसीसी चीफ कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह, स्टेट इंचार्ज जेपी अग्रवाल, विधायक जयवर्धन सिंह, जीतू पटवारी समेत पार्टी के सभी निर्वाचित मेयर और पार्षद मौजूद हैं।

सम्मेलन को संबोधित करते हुए राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, 'ग्वालियर की पनौती भाजपा में चली गई, इसी वजह से ग्वालियर में 57 साल बाद कांग्रेस का मेयर बन पाया है। जब सिंधिया भाजपा में गए, तब चर्चा ये थी कि अब कांग्रेस खत्म हो गई है। ग्वालियर-चंबल में इतना बड़ा परिणाम आया है तो वो कार्यकर्ताओं की मेहनत से ही आया है।'

इस दौरान जबलपुर के नवनिर्वाचित मेयर जगत बहादुर सिंह ने कहा, 'कमलनाथ की सरकार जिस दिन गिरी थी, उसी दिन उनके आंसुओं को देखकर कसम खाई थी कि जब तक कमलनाथ को दोबारा सीएम नहीं बना देता, चैन से नहीं बैठूंगा।' ग्वालियर महापौर शोभा सिकरवार ने कहा कि कमलनाथ ने मुझपर भरोसा किया तो ग्वालियर की जनता ने 30 हजार वोट से जिताकर 57 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। अब हम विधानसभा चुनाव में रिकॉर्ड तोड़ जीत दिलाएंगे।

छिंदवाड़ा के महापौर विक्रम अहाके ने कहा कि, 'मैं सबसे कम उम्र का उम्मीदवार होने के साथ ही सबसे गरीब प्रत्याशी था। मेरी पूरी संपत्ति बीवी के जेवर मिलाकर साढ़े तीन लाख थी। मुझे उम्मीद नहीं थी कि मेरा जैसा गरीब आदिवासी भी महापौर बन सकता है। कमलनाथ जी ने मेरा काम देखा। 18 साल बाद छिंदवाड़ा में कांग्रेस का महापौर बना।'

दरअसल, कांग्रेस इसबार शहरी वोटर्स को साधने की भी पूरी कोशिश में है। निकाय चुनाव के सकारात्मक नतीजों से पार्टी कार्यकर्ताओं का उत्साह भी बढ़ा है। भोपाल के रविंद्र भवन में ये सम्मेलन नगरीय निकाय चुनाव में मिली सफलता को लेकर बुलाया गया है। कांग्रेस ग्वालियर, जबलपुर, रीवा, मुरैना में कांग्रेस मेयर बनाने में कामयाब रही है। इससे पहले इन सभी सीटों पर बीजेपी का कब्जा था।

सम्मेलन में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने सभी मेयर्स को सम्मानित किया। साथ ही  4-5 बार से लगातार पार्षद बनने वालों का भी सम्मान हुआ। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने सम्मेलन में आए पार्टी लीडर्स और कार्यकर्ताओं से 2023 में होने वाले विधानसभा को लेकर भी चर्चा की। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी जेपी अग्रवाल ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि, 'बीजेपी के लिए राहुल गांधी ने चैलेंज पैदा किया है। 4 हजार किलोमीटर पैदल चलकर बीजेपी दिलाए। राहुल गांधी को चना मत समझ लेना, वो लोहे का चना है, चबा नहीं पाओगे।'