Sehore : वॉट्सएप ग्रुप से रिमूव किया तो भेजा मानहानि का नोटिस

रिमूव हुए पत्रकार के वकील ने वॉट्सएप ग्रुप के एडमिन पत्रकार को भेजा मानहानि का नोटिस, ग्रुप से हटाने पर सहना पड़ी मानसिक यातना

Publish: Jul-28, 2020, 05:36 PM IST

Sehore : वॉट्सएप ग्रुप से रिमूव किया तो भेजा मानहानि का नोटिस

सीहोर। सीहोर में एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है। वॉट्सएप ग्रुप के एडमिन को एक अन्य पत्रकार ने मानहानि का नोटिस थमा दिया है। ग्रुप के एडमिन ने पत्रकार को रिमूव कर दिया था। जिसके बाद रिमूव हुए पत्रकार के वकील ने एमपी इंडिया यूट्यूब चैनल संचालित करने वाले पत्रकार को मानहानि का नोटिस थमा दिया है। 

अधिवक्ता सुनील दुबे ने अपने पक्षकार मुकेश मेहता को ग्रुप से रिमूव किए जाने को लेकर ग्रुप के एडमिन दिनेश नागर को मानहानि का नोटिस भेज दिया है। दिनेश नागर एमपी इंडिया नामक यूट्यूब चैनल संचालित करते हैं। वहीं मुकेश मेहता रहटी तहसील के बंसल न्यूज़ चैनल के संवाददाता हैं। मुकेश मेहता का आरोप है कि दिनेश नागर ने ग्रुप के एडमिन रहते हुए मुकेश मेहता द्वारा उनकी बात न मानने पर उन्हें ग्रुप से रिमूव कर दिया। जिस वजह से उन्हें मानसिक यातनाएं सहना पड़ी। 

अधिवक्ता सुनील दुबे का आरोप है कि पहले दिनेश नागर ने मुकेश मेहता पर अवैध और झूठी खबरें चलाने का दबाव बनाया। जब मुकेश मेहता ने उनकी यह बात नहीं मानी, तब उन्होंने मुकेश को ग्रुप से निकाल दिया।अधिवक्ता सुनील दुबे का दावा कि उनके पक्षकार बंसल न्यूज़ संवाददाता की छवि काफी धूमिल हुई है। जिस वजह से उनकी मानहानि हुई है।

सुनील दुबे ने कहा है कि ग्रुप में अव्वल दर्जे के अधिकारी व कर्मचारियों के बीच मुकेश मेहता की काफी बेइज्जती हुई है। सुनील दुबे ने कहा है कि क्षेत्र में चूंकि मुकेश और उनके परिवार की काफी प्रतिष्ठा है इसलिए ग्रुप से रिमूव किए जाना मानहानि के बराबर ही है।