गांव-गांव तक पहुँचा कोरोना, बचाने के लिए दिग्विजय सिंह ने शिवराज सरकार को दिए सुझाव

दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेश के गांवों को कोरोना के कहर से बचाने के लिए शिवराज सरकार को कुछ सुझाव दिए हैं, जिसमें उन्होंने हर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर टेस्टिंग किट और जिला अस्पताल में सीटी स्कैन की व्यवस्था कराने की दी सलाह

Updated: Apr 30, 2021, 11:10 AM IST

गांव-गांव तक पहुँचा कोरोना, बचाने के लिए दिग्विजय सिंह ने शिवराज सरकार को दिए सुझाव
Photo Courtesy: Outlook

भोपाल। मध्यप्रदेश में बेकाबू होते कोरोना का कहर अब प्रदेश के ग्रामीण इलाकों तक भी पहुंचने लगा है। प्रदेश के गांवों को कोरोना के कहर से बचाने के लिए राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कुछ अहम सुझाव शिवराज सरकार को दिए हैं। जिसमें टेस्टिंग किट की पर्याप्त व्यवस्था, टेस्ट रिपोर्ट और ऑक्सीजन बेड से संबंधित सुझाव शामिल हैं। 

कांग्रेस नेता ने कहा है कि अगर कोरोना के संक्रमण ने गांवों में अपने पैर पसार लिए तब ऐसी परिस्थिति में भगवान ही मालिक होगा। दिग्विजय सिंह ने इस परिस्थिति को पनपने से रोकने के लिए कहा है कि वायरस के थोड़े से ही लक्षण दिखने पर मरीज़ का तत्काल इलाज शुरू कर दिया जाने चाहिए। इसके साथ ही प्रदेश के हर शासकीय ज़िला अस्पतालों में सीटी स्कैन की व्यवस्था की जानी चाहिए। 

यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में 1 मई से नहीं शुरू होगा टीकाकरण, वैक्सीन कंपनियों से अब तक नहीं मिले हैं शिवराज सरकार को टीके

दिग्विजय सिंह ने कहा है कि राजस्थान की ही तर्ज पर प्रदेश के निजी अस्पतालों में होने वाले सीटी स्कैन के रेट तय किए जाने चाहिए। इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने कहा है कि हर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर टेस्टिंग किट की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए और टेस्ट रिपोर्ट 48 घंटे के भीतर आने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जानी चाहिए। 

दिग्विजय सिंह ने शिवराज को यह भी नसीहत दी है कि हर ज़िला अस्पताल में ऑक्सीजन के कम से कम 50 बेड की व्यवस्था होनी चाहिए। और कम से कम 25 वेंटिलेटर की भी व्यवस्था होनी चाहिए। कांग्रेस नेता ने कहा है कि कोरोना से राहत प्रदान करने के लिए विधायक निधि और दन दाताओं द्वारा दिए गए योगदान का उपयोग ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीद कर ज़िला अस्पताल में रखे जाने चाहिए। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने मास्क व सामाजिक दूरी का खयाल रखने के भी सलाह दी है। कांग्रेस नेता ने सामाजिक व राजनीतिक आयोजनों पर भी पूर्ण नियंत्रण रखने की सलाह दी है। 

यह भी पढ़ें : सूरत कोर्ट: रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले दो डॉक्टरों को 15 दिन तक कोविड अस्पताल में सेवा की सज़ा

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों में कोरोना के 12,762 मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में कुल 95 मौतों का दावा किया गया है। प्रदेश में अब तक कुल 5,50,927 मरीज़ कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इस समय प्रदेश में कोरोना के कुल 92,077 सक्रिय मामले हैं। सरकारी आंकड़े के मुताबिक प्रदेश में कुल 5,519 मौतें हो चुकी हैं।