Digvijaya Singh: EVM से होती है सेलेक्टिव छेड़छाड़, परिणामों पर बोले दिग्विजय सिंह

EVM Tampering: दिग्विजय सिंह पहले भी सवाल उठा चुके हैं कि जब विकसित देश EVM का इस्तेमाल नहीं करते तो भारत में इसकी ज़िद क्यों

Updated: Nov 10, 2020, 08:46 PM IST

Digvijaya Singh: EVM से होती है सेलेक्टिव छेड़छाड़, परिणामों पर बोले दिग्विजय सिंह

भोपाल। मध्य प्रदेश में उपचुनावों की मतगणना पूरी तरह खत्म होने से पहले ही ईवीएम को लेकर फिर से बहस छिड़ गई है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर से ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने कहा कि ईवीएम में छेड़छाड़ पूरी तरह से नहीं, बल्कि सेलेक्टिव तरीके से की जाती है। मध्य प्रदेश उपचुनाव के परिणामों का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी सीटें हैं जो हम किसी भी परिस्थिति में हार नहीं सकते थे। लेकिन हम हजारों वोटों से हारे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कल बैठक करके परिणामों का विश्लेषण करेगी।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बयान पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि दिग्विजय सिंह पहले ही हार की भूमिका बना चुके थे। उन्होंने सवाल किया कि पिछली बार जब आप 114 सीटें जीते थे तब ईवीएम नहीं थी? शिवराज ने कहा कि दिग्विजय जी कभी सच को सच नहीं कहते।

और पढ़ें : उदित राज: जब मंगल पर जाने वाला उपग्रह नियंत्रित हो सकता है तो EVM हैक क्यों नहीं हो सकता

हालांकि यह पहली बार नहीं है जब दिग्विजय सिंह ने पहली बार ईवीएम का मुद्दा उठाया है। वे इससे पहले भी ईवीएम पर सवाल उठा चुके हैं। हाल ही में उन्होंने पूछा था कि जब विकसित देश ईवीएम का इस्तेमाल नहीं करते तो हम क्यों कर रहे हैं? बिहार चुनाव के दौरान खुद राहुल गांधी ने भी ईवीएम को मोदी वोटिंग मशीन बताया था। आज कांग्रेस नेता उदित राज ने भी ट्वीट करते हुए पूछा कि जब मंगल ग्रह पर भेजे जाने वाले उपग्रह को इतनी दूर से नियंत्रित किया जा सकता है तो ईवीएम को हैक क्यों नहीं किया जा सकता?