MP से BJY की खुशनुमा माहौल में विदाई, राहुल ने कमलनाथ और दिग्विजय से कहा- आप दोनों गले लगिए

मध्य प्रदेश से विदाई के मौक़े पर दिग्विजय सिंह और कमलनाथ से राहुल ने कहा आप दोनों गले लगिए, एमपी जोड़िए और जीतिए, इस दौरान दोनों नेताओं ने उन्हें आश्वस्त किया कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस निश्चित विजय पताका फहराएगी।

Updated: Dec 05, 2022, 11:00 AM IST

MP से BJY की खुशनुमा माहौल में विदाई, राहुल ने कमलनाथ और दिग्विजय से कहा- आप दोनों गले लगिए

आगर। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का 12 दिन का सफर समाप्त हो गया है। यात्रा आगर जिले से होते राजस्थान में प्रवेश कर चुकी है। पिछले 12 दिनों में मध्य प्रदेश के लोगों का स्नेह पाकर राहुल गांधी अभिभूत दिखे। उन्होंने एमपी की जनता के नाम संदेश में लिखा कि आप हमेशा हमारी स्मृतियों में रहेंगे। साथ ही कांग्रेस के दोनों दिग्गज कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से गले मिलने का अनुरोध किया।

जानकारी के मुताबिक विदाई के दौरान राहुल गांधी ने कांग्रेस के दोनों कद्दावर नेता कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से कहा कि आप गले लगिए, प्रदेश को एकजुट कीजिए और 2023 में चुनाव जीतिए। इस दौरान दोनों नेताओं ने उन्हें आश्वस्त किया कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस निश्चित ही विजय पताका फहराएगी। 

मध्य प्रदेश के आगर जिले में यात्रा के अंतिम पड़ाव डोंगर गांव में राहुल गांधी सभा को संबोधित किया। उनके साथ कमलनाथ और दिग्विजय सिंह भी खड़े रहे। सभा में राहुल गांधी ने कहा कि कमलनाथ को 101 डिग्री बुखार है, फिर भी इन्होंने रेस्ट नहीं लिया और ये हमारे साथ चले।

बता दें कि यात्रा ने 23 नवंबर को बुरहानपुर जिले से एमपी में एंट्री ली थी। रविवार 4 दिसंबर को यात्रा आगर जिले से राजस्थान में प्रवेश कर कर गई है। राजस्थान के झालावाड़ जिले में यात्रा का भव्य स्वागत किया गया। सीएम अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, युवा नेता सचिन पायलट सहित तमाम दिग्गजों ने राहुल की आगवानी की। 

वेलकम सभा में राहुल गांधी का सहरिया नृत्य के साथ स्वागत किया गया। मंच पर हो रहे इस नृत्य को देखकर राहुल गांधी भी अशोक गहलोत, कमलनाथ और सचिन पायलट के साथ डांस करने लगे। इस दौरान सचिन पायलट और अशोक गहलोत ने एक-दूसरे का हाथ पकड़कर साथ में डांस किया। यहां राहुल गांधी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने कहा कि मध्य प्रदेश को छोड़कर दुख हो रहा है, लेकिन राजस्थान में आकर खुशी हो रही है। हवाई जहाज से हिंदुस्तान समझ नहीं आता, फटे हुए हाथ वाले किसान से हाथ मिलाने पर ही समझ आता है।