गुना: जान जोखिम में डाल नदी पार करने को मजबूर स्कूली बच्चे, जरा सी चूक पर हो सकती है अनहोनी

मध्य प्रदेश के गुना जिले का मामला, रस्सी के सहारे उफनती नदी को पार करते हैं स्कूली बच्चे, दशकों से आवेदन दे रहे ग्रामीण, उसके बाद भी नहीं हो सका पुल का निर्माण

Updated: Jul 22, 2022, 01:26 PM IST

गुना: जान जोखिम में डाल नदी पार करने को मजबूर स्कूली बच्चे, जरा सी चूक पर हो सकती है अनहोनी

गुना। मध्य प्रदेश के गुना जिले से एक विचलित करने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां आजादी के 75 साल बाद भी बच्चों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए जान जोखिम में डालना पड़ रहा है। यहां रहने वाले सहरिया और बंजारा समुदाय के लोग कई दशकों से आवेदन दे रहे हैं, बावजूद पुल का निर्माण नहीं किया गया। सोशल मीडिया पर बच्चों के नदी पार करने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

मामला जिला मुख्यालय से 60 किमी दूर गोचा अमाल्या पंचायत बजरंगपुरा गांव का है। यहां नदी की दूसरी ओर स्कूल है। बच्चों को एक किमी पैदल चल कर स्कूल जाना होता है। इसमें उन्हें रास्ते में नदी पार करने के लिए दो रस्सी के सहारे गोचा नदी पार करनी पड़ रही है। 

गांव वाले बारिश के दिनों में गांव के दोनों ओर पेड़ों से दो रस्सियों को बांध देते हैं। बच्चे एक रस्सी पर चलते हैं, जबकि दूसरी रस्सी को हाथ से पकड़ लेते हैं। ऐसे में अगर थोड़ी सी भी चूक हो जाए तो जान भी जा सकती है। बताया जा रहा है कि जिस जगह बच्चे नदी पार करते हैं, वहां नदी में पानी की गहराई करीब 6 से 7 फीट है। वहीं, चौड़ाई करीब 20 फीट है। 

वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है। अधिकारियों ने नदी पार करने के लिए लगी रस्सी को ही कटवा दिया गया है। मामले पर जिला शिक्षाधिकारी ने आला अधिकारियों से मार्गदर्शन मांगने की बात कही है।