MP By Poll: मजदूर के पांव पर सिर रखकर वोट मांग रहे हैं मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, ये विनम्रता है या मजबूरी!

कांग्रेस से पाला बदलकर बीजेपी में आए प्रद्युम्न सिंह तोमर ग्वालियर में बीजेपी के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं

Updated: Oct 05, 2020 10:02 PM IST

MP By Poll: मजदूर के पांव पर सिर रखकर वोट मांग रहे हैं मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, ये विनम्रता है या मजबूरी!
Photo Courtesy: twitter

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में बीजेपी प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह तोमर मजदूर के पैरों पर सिर रखकर वोट मांगते नजर आए। तोमर को डर है कि कहीं उनके दल बदलने के फैसले से नाराज जनता जनार्दन उन्हें सबक ना सिखा दे। शायद इसीलिए वे लोगों को खुश करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। मकसद सिर्फ एक ही है, किसी तरह वोट मिल जाएं।

कभी सार्वजनिक शौचालय की सफाई, तो कभी नंगे पैर चलकर सुर्खियां बटोरने वाले प्रद्युम्न सिंह तोमर ग्वालियर में जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उपचुनाव में ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र से मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है। रविवार को उन्होंने ग्वालियर के गदाईपुरा, मल्ल गढ़ा, कल्लू काछी की बगिया क्षेत्रों में जनसंपर्क किया। इस दौरान प्रद्युम्न सिंह ने यहां के मजदूर हरि मोहन पटेल को गले लगाया, उनका सम्मान किया। नेता जी यहीं नहीं रुके उन्होंने मजदूर के पैर पर सिर रखकर चरणवंदना की, और जीत का आशीर्वाद मांग कर ही दम लिया।

और पढ़ें: Sanchi By Poll 2020: मतदाताओं के सवालों से घिरे मंत्री पुत्र पर्व चौधरी

वैसे प्रद्युम्न सिंह तोमर कई बार अपने अंदाज को लेकर सुर्खियों में रहते आए हैं। कई बार सड़कों और नालियों की सफाई कर चुके हैं। ग्वालियर में सार्वजनिक शौचालयों में गंदगी देखकर खुद ही सफाई में जुट गए थे। वहीं कई बार वे भीषण गर्मी में चप्पल त्यागकर नंगे पैर चलते नजर आ चुके हैं।

गौरतलब है कि प्रद्युम्न सिंह कांग्रेस के उन बागियों में से हैं जिन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ बीजेपी की सदस्यता ली है। और अब बीजेपी से उपचुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। जनता को लुभाने के लिए प्रद्युम्न सिंह तोमर उनके के पैरों में सिर रखने को मजबूर हैं। मंत्री जी की यह अदा देखकर ग्वालियर की जनता भौंचक रह गई।

दलबदलू नेताओं को जनता के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। हाल ही में रायसेन की सांची विधान सभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी प्रभुराम चौधरी के लिए प्रचार करने गए उनके बेटे से जनता ने जब सवाल जवाब किया तो मंत्री पुत्र की बोलती बंद हो गई थी। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए 3 नवंबर को चुनाव होंगे और 10 नवंबर को मतगणना होगी।