लोकायुक्त ने बिजली कंपनी के उप महाप्रबंधक को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

भोपाल लोकायुक्त ने उप महाप्रबंधक के ब्यावरा स्थित दफ्तर में उसे पकड़ा, किसानों के ट्रांसफर लगाने के नाम पर हर फाइल पर पांच हजार की लेता था रिश्वत

Updated: Dec 22, 2020, 04:42 PM IST

लोकायुक्त ने बिजली कंपनी के उप महाप्रबंधक को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा
Photo Courtesy: Patrika

भोपाल। भोपाल लोकायुक्त ने सोमवार को ब्यावरा में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के उप महाप्रबंधक को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ लिया। भोपाल लोकायुक्त को ब्यावरा के एक बिजली ठेकेदार ने शिकायत की थी उप महाप्रबंधक किसानों के ट्रांसफर लगाने के नाम पर हर फाइल पर पांच हजार की रिश्वत लेता था। लिहाज़ा लोकायुक्त ने सोमवार को रिश्वतखोर उप महाप्रबंधक रितेश श्रीवास्तव को रंगे हाथों दबोच लिया। 

दरअसल बिजली के ठेकेदार सुरेंद्र गुर्जर ने बीते 17 दिसंबर को भोपाल लोकायुक्त से उप महाप्रबंधक की शिकायत की थी। सुरेंद्र गुर्जर ने अपनी शिकायत में कहा था कि रितेश ने उससे योजना के तहत किसानों के ट्रांसफार्मर लगाने के लिए रिश्वत मांगी थी। उनसे हर फाइल के 5 हजार रुपए तय किए थे। सत्यापन के दौरान ही रितेश 15 हजार रुपए ले चुका था। जिसके बाद लोकायुक्त की टीम ने जांच के बाद सोमवार को ब्यावरा स्थित ऑफिस से रितेश को रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा। इसके साथ ही उसके भोपाल स्थित घर पर भी छापा मारा गया। 

घर में मिला मिनी बार 

लोकायुक्त की टीम ने जब रितेश के भोपाल स्थित उसके घर में छापा मारा। तो लोकायुक्त की टीम को रितेश के घर से कुछ कागजात भी बरामद हुए। इसके साथ ही उसके घर में एक मिनी बार भी मिला। दैनिक भास्कर को एसपी लोकयुक्त भोपाल ने बताया कि रितेश मूल रूप से बनारस का रहने वाला है। भोपाल में उसका घर पीपुल्स मॉल के पीछे है।