Kamal Nath: हम किसानों का ऋण माफ कर रहे थे, बीजेपी ने सरकार गिरा दी

MP by poll 2020: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का आरोप, बीजेपी राज मेंकिसानों की आत्महत्या, बेरोजगारी, महिलाओं पर अत्याचार में एमपी बना नबंर वन

Updated: Sep 14, 2020 04:19 PM IST

Kamal Nath: हम किसानों का ऋण माफ कर रहे थे, बीजेपी ने सरकार गिरा दी

भोपाल। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने सोमवार को मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के जिला अध्यक्षों और प्रदेश पदाधिकारियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस सरकार के कार्यकाल की खूबियां गिनाई और बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने किसान नेताओं और किसानों से अपील की है कि सब मिलकर प्रदेश से बीजेपी की किसान विरोधी सरकार को आगामी उपचुनाव में उखाड़ फेंके।

अपने संबोधन में कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी के राज में मध्यप्रदेश किसान आत्महत्या, बेरोजगारी, महिला अत्याचार में नंबर वन रहा है। कांग्रेस ने प्रदेश की छवि में सुधार करने की कोशिश की। जिसके बाद प्रदेश में निवेश आने लगा था। लेकिन बीजेपी ने सौदेबाजी करके कांग्रेस की सरकार गिरा दी।

बीजेपी सरकार किसान विरोधी है

कांग्रेस नेता ने बीजेपी सरकार को किसान विरोधी बताया है। उनका कहना है कि “किसानों की खुशहाली से ही बाजारों में रोशनी है, यह रोशनी बनी रहे, इसके लिए कांग्रेस सरकार ने किसानों का ऋण माफ कर 27 लाख किसानों को कर्ज मुक्त किया। कमलनाथ ने बीजेपी पर सरकार गिराने का आरोप लगाते हुए कहा है कि किसानों की ऋण माफ़ी का काम जारी था, लेकिन सौदेबाजी करके बीजेपी ने बोली लगाकर कांग्रेस की किसान हितैषी सरकार को गिरा दिया।

पढ़े लिखे नौजवानों से कृषि कार्य में जुड़ने की अपील

कमलनाथ ने कहा कि उनका सपना था कि प्रदेश के पढ़े-लिखे नौजवान भी कृषि क्षेत्र से जुड़ें। उनकी कोशिश रही है कि किसानों की उपज दलालों के हाथों में ना जाए। किसानों को उनकी फसल की बेहतर कीमत मिले। उन्होंने किसान नेताओं को बताया कि मुख्यमंत्री के तौर पर उन्होने जिला कलेक्टरों से व्यक्तिगत बातचीत करके किसानों के पक्ष में कई फैसले लिए थे।

 बीजेपी के कार्यकाल में किसानों की आत्महत्या में अव्वल मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के जिला अध्यक्षों और प्रदेश पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा कि जब बीजेपी से कांग्रेस को सत्ता मिली थी तब मध्यप्रदेश किसानों की आत्महत्या के मामले में नंबर वन पर था।  बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश बेरोजगारी, महिलाओं पर अत्याचार में भी अव्वल नंबर पर था।

कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की छवि स्वच्छ करने की शुरुआत की

मध्य प्रदेश की पहचान बदलने की शुरुआत कांग्रेस ने की है। मिलावट माफिया, नकली खाद बेचने वालों के खिलाफ कांग्रेस सरकार ने अभियान चलाया। कमलनाथ ने कहा की प्रदेश में निवेश लाने के बड़े प्रयास किए जा रहे थे। बीजेपी सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में निवेश नहीं किया जा रहा था। क्योंकि भ्रष्टाचार में मध्यप्रदेश देश में शीर्ष पर था। प्रदेश में फैली अव्ववस्था के माहौल को कांग्रेस सरकार ने 15 माह के कम समय में ही बदल दिया था। निवेशकों का विश्वास मध्यप्रदेश पर लौटा था और वे निवेश करने के लिए उत्सुक हुए थे।।

 जनता से बीजेपी सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का कहना है कि आगामी उपचुनाव से प्रदेश के किसानों, गरीब जनता का भविष्य जुड़ा हुआ है। उन्होंने कांग्रेस जनों से अपील की है कि किसान नेता अपने उत्साह, जोश और निष्ठा से आगामी उपचुनावों में कांग्रेस प्रत्याशियों को विजय दिलाने में जुट जाये। प्रदेश के किसान भाइयों से आव्हान करें कि इन उपचुनावों में प्रदेश से इस किसान विरोधी बीजेपी सरकार को उखाड़ फेंके।

कमलनाथ के आवास पर आयोजित इस सभा में बड़ी संख्या में किसान कांग्रेस के पदाधिकारी समेत पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव, मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के दिनेश गुर्जर भी मौजूद थे।