Guna: बागी हुआ पुलिस का सिपाही, बोला, जो सामने आएगा मारा जाएगा

सरकारी रायफल लेकर फरार हुआ सिपाही नीरज जोशी, फायरिंग करते हुए वायरल किया वीडियो, अधिकारियों की प्रताड़ना से तंग आकर बग़ावत का किया दावा

Updated: Feb 07, 2021, 12:34 PM IST

Guna: बागी हुआ  पुलिस का सिपाही, बोला, जो सामने आएगा मारा जाएगा

गुना। मध्यप्रदेश के गुना में एक सिपाही बागी हो गया है। पुलिस लाइन में पदस्थ आरक्षक नीरज जोशी उर्फ टोनी ने बंदूक उठा ली है। सोशल मीडिया पर उसने एक पोस्ट वायरल की है, जिसमें वह कह रहा है कि आज तक वह सिपाही था, लेकिन अब बागी है। वीडियो में नीरज जोशी ने कहा है कि मेरे रास्ते में जो भी आएगा मारा जाएगा। उसने अधिकारियों के ऊपर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए कहा है कि इसी वजह से उसने बगावत की है।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को वह गुना कलेक्ट्रेट में गार्ड की ड्यूटी कर रहा था। आरोप है कि इस दौरान उसने अपने साथी हवलदार की सरकारी रायफल चुपके से चुरा ली और उसे बदमाशों को बेचने की फिराक में था। रायफल चोरी का मामला पुलिस अधिकारियों के संज्ञान में आने के बाद से उसकी लगातार तलाश की जा रही है। इस दौरान पुलिस को जोशी के बदमाशों के डेरों मे छिपे होने की खबर लगी, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही वह मौके से फरार हो गया।

वीडियो में दी खुली धमकी

बागी पुलिस वाले ने वीडियो जारी कर पुलिस को धमकी दी है कि उसके सामने आएंगे तो मारे जाएंगे। उसने कहा, 'मैं आज तक सिपाही था, लेकिन अब एक बागी हूं। मेरे सामने जो भी आएगा गोली मार दूंगा। चाहे पुलिस हो चाहे जो भी, मैंने पुलिस की रोटी खाई है, नहीं चाहता कि पुलिस पर गोली चलाऊं। इसलिए सामने न आएं।' उसने सायबर सेल के मसी खान को चेतावनी देते हुए कहा कि उसने सिर्फ मोबाइल पकड़ा है, लेकिन अपराधी नहीं। बागी आरक्षक ने कहा, 'मसी खान से कहना चाहता हूं कि मेरी फील्डिंग न लगाए, नहीं तो 100% तुम्हारा विकेट गिरा दूंगा। मैं तो हथियार उठाकर आया हूं।' 

 

अधिकारियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया

आरक्षक नीरज ने अपने अधिकारियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है और बताया है कि प्रताड़ना से तंग आकर ही उसने बंदूक उठाई। उसने कहा, 'मुझे बागी बनाने में पुलिस की भूमिका रही। रामवीर (वर्तमान में आगर मालवा में पदस्थ) , राम शर्मा (कुंभराज थाना प्रभारी) एवं तत्कालीन आईजी राजाबाबू सिंह है। मुझ पर 3-3 झूठे प्रकरण लादे गए, जिसमें मैं बरी हुआ हूं। 4-4 विभागीय जांच बिठाई, इन्क्रीमेंट डाउन किए।'

उसने यह भी आरोप लगाया है कि राजाबाबू सिंह ने उससे 2 लाख रुपए लिए। साथ ही रामवीर कुशवाह पर आत्माराम पारदी, मोहब्बत सिंह को मारने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे कितने मारे गए पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उसने आईजी पर महिला की शिकायत पर झूठी जांच बिठाने का भी आरोप लगाया है। नीरज ने एक और वीडियो जारी किया है, जिसमें वह ताबड़तोड़ गोलियां चला रहा है। इस मामले में आईजी ने गुना एसपी से पूरी रिपोर्ट मांगी है।