काउंटिंग के दौरान बिजली गई और बदल गए नतीजे, अंधेरे का फायदा उठाकर नतीजे प्रभावित करने का आरोप

सरपंच प्रत्याशी ने काउंटिंग के दौरान बड़े स्तर पर गड़बड़ी का आरोप लगाया है, 1 वोट से हारने वाले प्रत्याशी का दावा है कि अंधेरे का फायदा उठाकर चुनाव नतीजे प्रभावित किए गए

Updated: Jun 27, 2022, 05:20 PM IST

काउंटिंग के दौरान बिजली गई और बदल गए नतीजे, अंधेरे का फायदा उठाकर नतीजे प्रभावित करने का आरोप

उमरिया। मध्य प्रदेश के उमरिया से पंचायत चुनाव के काउंटिंग में बड़े स्तर पर गड़बड़ी की खबर सामने आई है। यहां एक सरपंच प्रत्याशी ने दावा किया है कि अंधेरे का फायदा उठाकर अधिकारियों ने चुनावी नतीजों को प्रभावित किया। प्रत्याशी के मुताबिक काउंटिंग के दौरान बिजली गुल हुई और नतीजे बदल दिए गए।

मामला उमरिया जिले के करकेली जनपद पंचायत 
अंतर्गत बोदली ग्राम पंचायत का है। यहां 25 जून को वोटिंग के बाद सरपंच पद की मतगणना के नतीजों में दो प्रत्याशियों पूरन सिंह और जितेंद्र सिंह को 225-225 वोट मिले। दोनों के बराबर मत प्राप्त होने के बाद दोनों प्रत्याशियों ने रिकाउंटिंग की मांग की। दो बार रिकाउंटिंग भी हुई, लेकिन नतीजे समान रहे। 

यह भी पढ़ें: मुरैना में पोलिंग बूथ पर हमला करने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन, आरोपियों के घरों पर चला बुलडोजर

प्रत्याशियों ने एक बार फिर से पुनर्गणना की मांग की। लेकिन जैसे ही इस बार काउंटिंग शुरू हुई की मतगणना केंद्र में बिजली गुल हो गई। थोड़ी देर बाद जब बिजली आई और काउंटिंग हुई तो नतीजे बदल गए। जितेंद्र सिंह के तो 225 मत यथावत रहे, लेकिन पूरन सिंह का एक वोट कम हो गया। ऐसे में जितेंद्र सिंह को विजयी घोषित कर दिया गया।

पूरन सिंह का आरोप है कि जब उनके पोलिंग एजेंट ने इस हेरफेर पर आपत्ति जताई तो उन्हें मतगणना केंद्र से बाहर निकाल दिया गया। पूरन सिंह ने इसके खिलाफ अपने एजेंट और समर्थकों के साथ जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष उपस्थित होकर काउंटिंग में हुई गई गड़बड़ी की शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही अधिकारियों पर कार्रवाई की भी मांग की है। कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने इस मामले में जांच के निर्देश दिए हैं।