भोपाल समेत मध्य प्रदेश के 17 जिलों में बारिश से फिर बढ़ी सर्दी

मध्य प्रदेश के कई जिलों में बरसा पानी, भोपाल, इंदौर, उज्जैन और खरगोन में नहीं निकला सूरज, सर्दी दिखाएगी अपने तेवर

Updated: Jan 09, 2021, 06:29 PM IST

भोपाल समेत मध्य प्रदेश के 17 जिलों में बारिश से फिर बढ़ी सर्दी
photo courtesy: swatantra prabhat

भोपाल। अरब सागर में बने नए सिस्टम का असर मध्य प्रदेश पर पड़ने लगा है। शुक्रवार रात से ही प्रदेश के कई संभागों में बारिश हुई। भोपाल में सुबह से ही सूरज नहीं निकला, जिससे हवाएं सर्द हो गई हैं। कई स्थानों पर कोहरा छाया रहा। ग्वालियर, उज्जैन और खजुराहो, छतरपुर में विजिबिलिटी कम होने से लोगों को गाड़ी चलाने में परेशानी का सामना करना पड़ा।  

मौसम विभाग ने शनिवार और रविवार को सीहोर, देवास, होशंगाबाद, खंडवा, बुरहानपुर, खरगोन, बड़वानी, धार, उज्जैन, में तेज बारिश की चेतावनी जारी की है। वहीं ग्वालियर- चंबल संभांग, भोपाल, राजगढ़, सागर और उज्जैन संभाग के विभिन्न जिलों कोहरा पड़ने से ठंड बढ़ने के आसार हैं। भोपाल और इंदौर संभाग के कई जिलों में बारिश के साथ ओले गिरने की चेतावनी दी गई है।

और पढ़ें : सीहोर के सरकारी अस्पतालों में एक साल में 724 नवजात शिशुओं की मौत

पानी बरसने से पहले प्रदेश में सर्दी कम हो चली थी। भोपाल में कल रात का तापमान सामान्य से 8.5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था। जिससे लोगों को हल्की गर्मी का एहसास हो रहा था। भोपाल में रात का तापमान 19.2 डिग्री, होशंगाबाद में 21 डिग्री, ग्वालियर में 12.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। लेकिन अब बारिश होने के बाद सर्दी एक बार फिर से अपने तेवर दिखाएगी।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार फिलहाल अफगानिस्तान और पाकिस्तान के मध्य एक सिस्टम बना है जिसकी वजह से देश के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी है। अरब सागर में भी एक साइक्लोन बनने से हवा नम है, यही वजह है कि एक बार फिर मध्यप्रदेश में बादल और वर्षा के हालात बन गए हैं। अगले करीब दो-तीन दिन ऐसा ही मौसम रहने की उम्मीद जताई जा रही है। 11 जनवरी के बाद प्रदेश के कई स्थानों में तापमान कम होगा और शीतलहर के साथ ठंड बढ़ेगी।