NEET मेडिकल परिक्षा घोटाला, 20 लाख रुपए में बेची गई हर सीट: CBI सूत्र

इस फर्जीवाड़े को अंजाम देने वाले रैकेट ने 20 रुपए में मेडिकल की एक सीट ऑफर की थी, यह रैकेट चार राज्यों में फैला था, सीबीआई ने सोमवार को इस मामले में 8 लोगों की गिरफ्तारी की थी

Updated: Jul 20, 2022, 10:30 AM IST

NEET मेडिकल परिक्षा घोटाला, 20 लाख रुपए में बेची गई हर सीट: CBI सूत्र

नई दिल्ली। नीट मेडिकल एग्जाम में फर्जीवाड़े को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। सीबीआई सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि मेडिकल की 1-1 सीट 20 लाख रुपये में बेची गई। इस फर्जीवाड़े को अंजाम देने वाले रैकेट 20 लाख रुपए में मेडिकल की एक सीट ऑफर की थी। बताया जा रहा है कि यह रैकेट चार राज्यों में फैला था। सीबीआई ने सोमवार को इस फर्जीवाड़े के मामले में 8 लोगों की गिरफ्तारी की थी।

CBI सूत्रों के हवाले से एनडीटीवी ने बताया कि हर सीट की कीमत ₹ 20 लाख है जिसमें से पांच लाख रुपये बहुरुपिये को दिए जाते हैं जो स्‍टूडेंट के बजाय परीक्षा में बैठकर NEET का प्रश्‍नपत्र सॉल्‍व करता था। शेष राशि बिचौलियों और अन्‍य लोगों के बीच बांटी जाती थी। केंद्रीय जांच एजेंसी ने इस मामले में दिल्‍ली से नीट का प्रश्‍नपत्र साल्‍व करने वाले आठ में से छह लोगों की गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें: राघौगढ़ में सन 1971 से BJP कभी परिषद नहीं बना पाई, नरोत्तम मिश्रा के गलत बयान पर दिग्विजय सिंह का पलटवार

इस पूरे फर्जीवाड़े के मास्‍टरमाइंड सुशील रंजन को सफरदजंग से गिरफ्तार किया था जो सॉल्‍वर्स की नियुक्ति करता था और पेमेंट लेता था। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह रैकेट बिहार, उत्‍तर प्रदेश, महाराष्‍ट्र और हरियाणा में भी सक्रिय है। इस मामले में 11 लोगों को नामजद किया गया है वहीं अन्‍य लोगों की तलाशी की जा रही है।

जांच का दायरा बढ़ाने के लिए सीबीआई अभ्यर्थियों से भी बात करेगी। इसमें कोचिंग संस्‍थानों की भूमिका भी मानी जा रही है। बता दें कि धोखाधड़ी को रोकने के लिए नीट एग्जाम की सुरक्षा जांच बेहद कड़ी की गई है। परीक्षा हॉल में पर्स, हैंडबैग, बैल्‍ट, कैप, आभूषण, जैसी चीजों को ले जाने की अनुमति नहीं है। इतना ही नहीं छात्राओं के ब्रा तक उतरवाने की खबरें सामने आई है।