रामदेव के कन्या गुरुकुल में MP की छात्रा की संदिग्ध मौत, पुलिस ने बताया आत्महत्या

हरिद्वार स्थित पतंजलि योगपीठ की कन्या गुरुकुल में मध्य प्रदेश की छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत, पुलिस का दावा- छत से कूदकर छात्रा ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट बरामद होने का दावा

Updated: Oct 03, 2021, 10:07 PM IST

रामदेव के कन्या गुरुकुल में MP की छात्रा की संदिग्ध मौत, पुलिस ने बताया आत्महत्या
Photo Courtesy : The Print

हरिद्वार/भोपाल। पतंजलि योगपीठ के संस्थापक रामदेव के गुरुकुल में मध्य प्रदेश की एक छात्रा की संदेहास्पद स्थिति में मौत होने की खबर है। बताया जा रहा है कि रविवार सुबह 24 वर्षीय छात्रा का शव संदिग्ध परिस्थितियों में बरामद हुआ है। हालांकि, पुलिस ने इसे आत्महत्या करार दिया है।

पुलिस के मुताबिक मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले की रहने वाली देवाज्ञा साल 2018 में हरिद्वार स्थित गुरुकुल में वैदिक शिक्षा ग्रहण करने आई थी। जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह करीब 4 बजे बहादराबाद के शांतरशाह स्थित पतंजलि योगपीठ की शाखा वैदिक कन्या गुरुकुल में यह छात्रा पांचवीं मंजिल से कूद गई।

यह भी पढ़ें: रामदेव का फ्रॉड: अपना धंधा बढ़ाने के लिए लोगों को करोड़पति बनाने का दिखाया सपना, SEBI ने भेजा नोटिस

बहादराबाद पुलिस थाने के ट्रेनी सीओ परवेज आलम के मुताबिक पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। पुलिस का कहना है कि सुसाइड नोट में भगवान और भक्ति को लेकर कुछ बातें लिखी हुई है। परवेज आलम ने बताया कि मृतक छात्रा के परिजनों को सूचना दे दी गई है।

छात्रा की मौत को लेकर पतंजलि योगपीठ के गुरुकुल को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। मसलन छात्रा ने ये कदम क्यों उठाया। वह आत्महत्या के लिए मजबूर क्यों हुई। फिलहाल ये सभी सवाल अनुत्तरित हैं। हरिद्वार सिटी एसपी कमलेश उपाध्याय ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। जांच-पड़ताल के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा।

यह भी पढ़ें: पतंजलि को शोध संस्थान की मान्यता देने पर दिग्विजय सिंह ने केंद्र सरकार पर बोला हमला, भाजपा को केवल फ्रॉड बाबा ही क्यों पसंद आते हैं

छात्रा की संदिग्ध मौत के बाद पूरे गुरुकुल में हड़कंप मच गया है। बता दें कि रामदेव का यह गुरुकुल हमेशा विवादों में रहा है। हाल ही में गुरुकुल में छत्तीसगढ़ के 4 बच्चों को बंधक बना लिया गया था। मीडिया में खबर आने के बाद छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने गुरुकुल पर दबाव बनाकर अपने बच्चों को छुड़ाया।