पीएम आवास योजना में गृह प्रवेश 12 सितंबर को, पीएम मोदी करेंगे हितग्राहियों से संवाद

MP By Election: उपचुनाव की तैयारियों के बीच पीएम मोदी कर रहे संवाद, कांग्रेस ने कहा कि आवास तो बहाना है, चुनावी माहौल बनाना है

Updated: Sep 11, 2020 10:39 PM IST

पीएम आवास योजना में गृह प्रवेश 12 सितंबर को, पीएम मोदी करेंगे हितग्राहियों से संवाद
Photo Courtesy: financialexpress

भोपाल। आगामी चुनाव की तैयारी के लिए बीजेपी हर तरह के प्रयास कर रही है। बात चाहे प्रचार-प्रसार की हो या फिर पहले से चल रही योजनाओं का लाभ प्रदान करने की। हर मौके को भुनाने की कोशिश की जा रही है। इसी क्रम में शनिवार 12 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एमपी में पीएम आवास योजना के हितग्राहियों को उनके सपनों के घर की सौगात देंगें।

मध्यप्रदेश में दो लाख आवास बनकर तैयार हैं। पीएम आवास योजना के हितग्राही 12 सितंबर को गृह प्रवेश करेंगे। प्रधानमंत्री इस योजना के लाभार्थियों से संवाद करेंगे। वही इस बारे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आयोजित होने वाला गृह प्रवेश कार्यक्रम उत्साहपूर्वक मनाया जाएगा। मुख्यमंत्री का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का लक्ष्य है कि 'हर परिवार के पास अपना घर हो'। इस दिशा में कार्य करते हुए प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो लाख मकानों का निर्माण हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इन आवासों में हितग्राहियों को गृह प्रवेश करायेंगे। 

प्रधानमंत्री मोदी ने 9 सितंबर को प्रदेश के स्ट्रीट वेंडर्स के साथ स्‍वनिधि संवाद किया था। उन्होंने उपचुनाव वाले क्षेत्र सांवेर, ग्वालियर और रायसेन के हितग्रहियों से बात की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने सांवेर के छगन लाल वर्मा, ग्वालियर की अर्चना शर्मा और रायसेन के सब्जी के ठेला लगाने वाले डालचंद्र से बातचीत की थी।

Click  Kamal Nath: पीएम मोदी ने उप चुनाव वाले क्षेत्र में ही क्यों किया संवाद 

इस पर कांग्रेस ने सवाल उठाया था और कहा था कि प्रदेश के अन्य स्थानों की जनता को क्यों नहीं चुना गया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने स्वनिधि योजना के तहत पीएम मोदी के इस संवाद करने पर सवाल खड़ा था और कहा था कि जहां उपचुनाव हैं केवल वहीं की जनता से क्यों संवाद किया गया प्रदेश के दूसरे हिस्सों के हितग्राहियों को क्यों नहीं चुना गया।

आपको बता दें कि आगामी समय में बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, प्रधानमंत्री ने 10 सितंबर को बिहार को 294.53 करोड़ रुपये की योजनाओं की सौगात दी है। उन्होंने 'प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना' (पीएमएमएसवाई) का उद्घाटन किया। किसानों के प्रत्यक्ष उपयोग के लिए एक समग्र नस्ल सुधार, बाजार और सूचना संबंधी ‘ई-गोपाला एप’ की भी शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने बिहार के लाभार्थियों के साथ चर्चा की। कुल मिलाकर इनदिनों केंद्र सरकार का पूरा ध्यान उन प्रदेशों की ओर है जहां चुनाव होने हैं, बीजेपी की उम्मीद है कि केंद्र का पिटारा खुलने से बिहार विधानसभा चुनाव और मध्यप्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की राह आसान हो जाएगी।