ग्वालियर की सड़क पर मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के खिलाफ मोर्चेबंदी

Gwalior: खस्ताहाल सड़कों को लेकर स्थानीय लोगों ने मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के खिलाफ नारेबाजी की। लोगों ने जर्जर पडी सडक पर बैनर लगाकर लिखा कि ’’रोड नहीं तो वोट नहीं’’

Updated: Sep 08, 2020 12:53 AM IST

ग्वालियर की सड़क पर मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के खिलाफ मोर्चेबंदी

Gwalior। ग्वालियर की दक्षिण विधानसभा के शील नगर में खस्ताहाल सड़क को लेकर स्थानीय लोगों ने सोमवार को क्षेत्र के विधायक प्रद्युमन सिंह तोमर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और विरोध प्रदर्शन किया। इलाके के लोग स्थानीय विधायक और प्रशासन के खिलाफ सडकों पर उतरकर नारेबाजी करते दिखाई दिये। लोगों ने रोड पर बैनर लगाकर वहां के विधायक के खिलाफ नाराजगी जाहिर की। ग्वालियर के शील नगर में लोगों ने जर्जर पडी सड़क पर बैनर लगाकर लिखा कि ’’रोड नहीं तो वोट नहीं’’।

इस बात की जानकारी मिलते ही कांग्रेस के प्रदेश महासचिव सुनील शर्मा मौके पर पहुंच गए और स्थानीय लोगों से बात की। लगे हाथ सुनील शर्मा ने स्थानीय लोगों से कांग्रेस सरकार बनते ही सर्वप्रथम इलाके की सड़क बनवाने का वादा भी कर दिया। उन्होंने कहा कि वे हमेशा क्षेत्र की जनता के साथ कदम से कदम मिलाकर खड़े रहेंगे।

आपको बता दें कि 2018 चुनाव में ग्वालियर की दक्षिण विधानसभा से प्रद्युमन सिंह तोमर कांग्रेस की सीट पर जीतकर आे थे। लेकिन मार्च महीने में सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गये थे। प्रद्युमन सिंह तोमर कमलनाथ सरकार में खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री थे। वे भी उन 22 बागी विधायकों में शामिल थे जो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गये। उन 22 विधायकों के पार्टी बदलने के चलते प्रदेश में कांग्रेस का तख्तापलट हो गया था।

प्रद्युमन तोमर को भाजपा सरकार में भी कैविनेट मंत्री का ओहदा है, परन्तु उपचुनाव से पहले लगातार क्षेत्र में उनका विरोध हो रहा है।