आमंत्रण कार्ड में दिग्विजय सिंह के नाम पर भड़की बीजेपी, रेलवे स्टेशन उद्घाटन समारोह के कार्ड से रातों-रात हटे नाम

भोपाल में कमलापति रेलवे स्टेशन का लोकार्पण विवादों में घिरा, आमंत्रण कार्ड में राज्य सभा सांसद दिग्विजय सिंह और कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद, आरिफ अकील का भी था नाम, रेल मंत्री ने अधिकारियों को फटकारा

Updated: Nov 15, 2021, 04:46 PM IST

आमंत्रण कार्ड में दिग्विजय सिंह के नाम पर भड़की बीजेपी, रेलवे स्टेशन उद्घाटन समारोह के कार्ड से रातों-रात हटे नाम

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लोकार्पण से पहले कमलापति रेलवे स्टेशन का समारोह विवादों से जुड़ गया है। रेलवे ने एक बार कार्यक्रम का आमंत्रण कार्ड बांटने के बाद रातों रात उसमें दोबारा बदलाव किया है। दरअसल, पीएम मोदी के इस कार्यक्रम के आमंत्रण कार्ड में विपक्षी दल के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और कांग्रेस के दो विधायकों के भी नाम लिखे हुए थे। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक आमंत्रण कार्ड में दिग्विजय सिंह समेत अन्य कांग्रेसी नेताओं के नाम देखकर एमपी बीजेपी चीफ वीडी शर्मा भड़क गए थे। रविवार रात जब केंद्रीय रेल मंत्री भोपाल पहुंचे तो वीडी शर्मा व अन्य भाजपा नेताओं ने उन्हें कार्ड दिखाया। प्रदेश बीजेपी नेताओं ने रेल मंत्री के सामने इसपर आपत्ति जताई। बताया जा रहा है कि बीजेपी नेताओं ने रेल मंत्री से कहा कि कांग्रेस नेता हबीबगंज का नाम रानी कमलापति रखने का विरोध कर रहे हैं बावजूद कार्ड में उनका नाम छापना गलत है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने तत्काल रेलवे के अधिकारियों को फटकारते हुए नाम को बदलने का आदेश दिया। इसके बाद रेलवे ने रातों-रात कार्ड से कांग्रेस नेताओं समेत बीजेपी के कई नेताओं का भी नाम हटा दिया और कार्ड दोबारा बांटे गए। रेलवे ने इनके नाम छापने को लेकर तर्क दिया था कि रेलवे ट्रैक इन नेताओं के क्षेत्रों से गुजर रहा है, इसलिए गरिमामय उपस्थिति वाली सूची में इनका नाम जोड़ा गया था।

यह भी पढ़ें: PM मोदी के भोपाल आगमन से पूर्व IYC जिलाध्यक्ष गिरफ्तार, विक्रांत भूरिया ने कहा युवाओं से डरते हैं पीएम

रेलवे द्वारा जारी नए कार्ड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा सीएम शिवराज, राज्यपाल मंगू भाई पटेल और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के नाम शामिल है। इसमें से भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर, स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, राज्यसभा सांसद रमाकांत भार्गव और एमजे अकबर, बीजेपी विधायक कृष्णा गौर और सुरेंद्र पटवा का नाम हटा दिया गया है। 

कांग्रेस ने इसे बीजेपी की घटिया सोच करार दिया है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलुजा ने कहा कि, 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के लोकार्पण समारोह के कार्ड में से कांग्रेस के जनप्रतिनिधियो सहित अन्य जनप्रतिनिधियो के नाम पहले शामिल कर बाद में हटाना भाजपा सरकार की संकीर्ण व घटिया सोच दर्शाता है। यह न केवल जनप्रतिनिधियो का अपमान बल्कि प्रोटोकाल का उल्लंघन व ग़लत परंपरा की शुरुआत है।'