निहत्थे किसानों पर गोलियां चलवानेवाले शिवराज के लिए ना करें वोट, ब्यावरा में गरजे सचिन पायलट

शनिवार को मध्यप्रदेश में चार जनसभाओं को पायलट ने किया संबोधित, शिवराज पर लगाए गंभीर आरोप, लेकिन सिंधिया को लेकर जारी रही उनकी चुप्पी

Updated: Nov 01, 2020, 09:34 AM IST

निहत्थे किसानों पर गोलियां चलवानेवाले शिवराज के लिए ना करें वोट, ब्यावरा में गरजे सचिन पायलट

ब्यावरा। चुनाव प्रचार खत्म होने से एक दिन पहले ब्यावरा पहुंचे पायलट ने कहा, '15 साल सीएम रहने के बाद भी शिवराज का पेट नहीं भरा। जब जनता ने जनादेश वापस ले लिया, जनता ने घर बिठा दिया उसके बाद तिकड़म बिठाकर पिछले दरवाजे से आए और सीएम बनकर हमारी छाती पर बैठ गए। किसानों की बात करने वाली शिवराज के कार्यकाल मे सबसे ज्यादा किसानों ने आत्महत्याएं की। उन्होंने किसानों के सीनों पर गोलियां चलवाई, सड़कों पर खून बहा।' सचिन पायलट ब्यावरा में कांग्रेस प्रत्याशी रामचंद्र दांगी का प्रचार करने पहुंचे थे।

कमलनाथ सरकार ने शपथ लेने के साथ ही किसानों के कर्ज माफ किए

सचिन पायलट ने लोगों को याद दिलाया कि किस प्रकार कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार ने शपथग्रहण के दिन दो लाख किसानों का कर्ज माफ किया। उन्होंने आगे कहा कि, 'बीजेपी कहती है हम किसानों की आय दोगुनी करेंगे। यहां मैं पूछना चाहता हूं इतने किसान बैठे हैं किसी की आय दोगुनी हो गई क्या? दो करोड़ रोजगार और खाते में 15 लाख रुपए की भी बातें बोली गई थीं, लेकिन कुछ पूरा नहीं हुआ।

और पढ़ें: सचिन पायलट की सभाओं में उमड़ी भीड़, उमा भारती को मिलीं खाली कुर्सियां

मध्यप्रदेश उपचुनाव के प्रचार अभियान के अंतिम दिनों में कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। मध्यप्रदेश कांग्रेस के दिग्गजों के अलावा राजस्थान के युवा नेता सचिन पायलट भी चुनावी रण में कूद चुके हैं। युवाओं के बीच खासे लोकप्रिय पायलट ने शनिवार को ताबड़तोड़ चार रैलियां की, इस दौरान उन्होंने प्रदेश की बीजेपी सरकार और सीएम शिवराज सिंह चौहान पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि सीएम शिवराज ने निहत्थे किसानों पर गोलियां चलाई जिससे सड़कों पर किसानों का खून बहा।

सिंधिया पर आज भी हमलावर नहीं हुए पायलट

चुनाव प्रचार के अंतिम दिनों में जब पायलट आज मध्यप्रदेश पहुंचे तो सियासी गलियारों में इस बात की चर्चा थी कि पायलट आज सिंधिया के खिलाफ अपनी चुप्पी तोड़ेंगे। लेकिन पायलट ने ऐसा नहीं किया। कांग्रेस नेता ने शनिवार को आगर, हाट पिपलिया, ब्यावरा और सुवासरा में जनसभाएं कीं। इस दौरान उन्होंने सभी जगहों पर सीएम शिवराज और बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए लेकिन अपने पुराने मित्र सिंधिया का नाम नहीं लिया।