सलकनपुर मंदिर की सिक्योरिटी में लापरवाही: परिसर में लगे अधिकांश CCTV कैमरे थे बंद

सोमवार रात सलकनपुर से नोटों की बोरियां उड़ा ले गए थे चोर, मंदिर परिसर में 40 मिनट तक वारदात को दिया अंजाम, बंद पड़े थे अधिकांश सीसीटीवी कैमरे

Updated: Nov 17, 2022, 09:25 AM IST

सलकनपुर मंदिर की सिक्योरिटी में लापरवाही: परिसर में लगे अधिकांश CCTV कैमरे थे बंद

सीहोर। सलकनपुर के सुप्रसिद्ध बिजासन देवी मंदिर में चोरी की घटना के तीन दिन बाद भी अभी चोर पकड़े नहीं गए हैं। मंदिर की सिक्योरिटी में भी भारी लापरवाही सामने आई है। मामला तूल पकड़ने के बाद प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। अब खबर आई है कि मंदिर परिसर में लगे अधिकांश सीसीटीवी कैमरे बंद थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मंदिर के मुख्य द्वार से लेकर सड़क मार्ग, सीढ़ी मार्ग, रोप-वे और मंदिर परिसर में करीब 70 सीसीटीवी लगे हैं। ये सभी कैमरे हाई क्वालिटी के हैं। चोरी की घटना के बाद पता चला कि इनमें से आधे से ज्यादा कैमरे पिछले 6 महीने से बंद पड़े हैं। पुलिस के मुताबिक, कैमरों को सुधरवाने के लिए कहा गया था, लेकिन कुछ नहीं हुआ। आरोपी सड़क मार्ग वाले रास्ते से भागे हैं। यहां कैमरे चालू होते, तो आरोपियों को पकड़ने में आसानी होती।

यह भी पढ़ें: सलकनपुर धाम से नोटों की तीन बोरियां उड़ा ले गए चोर, पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, संदिग्धों से हो रही पूछताछ

बहरहाल, मंदिर परिसर के कुछ कैमरों में दो नकाबपोश चोर दिखे हैं। फुटेज में 2 बदमाश नोटों से भरी बोरियां कंधे पर लादकर ले जाते दिख रहे हैं। चोरों ने वारदात 40 मिनट में की। पुलिस अब इन फुटेज की मदद से चोरों का पता लगा रही है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 2 फोटोज भी जारी किए हैं। चोरों के बारे में सूचना देने वालों को 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। सूचना देने के लिए 3 नंबर भी जारी किए हैं। पुलिस ने 5 संदिग्धों को भी हिरासत में लिया है।

बता दें कि मंदिर की सुरक्षा का जिम्मा स्टेट आर्म्ड फोर्स (SAF) के पास है। 24 घंटे यहां गार्ड तैनात रहते हैं। रात में 12 से सुबह 5 बजे तक 2 जवान गश्त करते हैं। गश्त में एक जवान दांयी ओर से और दूसरा बांयी ओर से मंदिर का चक्कर लगाता है। वारदात वाली रात जवानों की गश्त में चूक हुई थी। दो जवान बिना बताए अवकाश पर थे। वहीं, 3 जवानों के सोने की बात सामने आ रही है।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश की सहरिया जनजाति में तेजी से फैल रही है टीबी की बीमारी, आईसीएमआर रिपोर्ट में खुलासा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र का धार्मिक स्थल और बड़े देवीधाम होने से मामला राजनीतिक रूप से भी गरमा गया है। विपक्षी दल कांग्रेस ने सीबीआई जांच की मांग की है। कांग्रेस के पूर्व मंत्री और बुधनी विधानसभा के पूर्व विधायक राजकुमार पटेल ने सलकनपुर मंदिर में चोरी का पता लगाने और प्रबंधन पर अमानत में खयानत का केस दर्ज कर सीबीआई जांच की मांग की है।

पटेल ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया है। पटेल ने कहा कि, 'मंदिर में दान के रुपए बोरियों में भरकर रखना प्रबंध समिति की लापरवाही है। रुपए चोरी हो जाना श्रद्धालुओं के साथ धोखा है। मंदिर समिति प्रबंधन ने लंबे समय से रुपए बैंक में जमा नहीं किए। मंदिर समिति की जांच की जानी चाहिए।'