MP By Elections: कमलनाथ उद्योगपति हैं या नहीं, प्रदेश के मौजूदा और पूर्व मुख्यमंत्री में वार-पलटवार का नया मुद्दा

शिवराज ने पहले कहा कमलनाथ बड़े उद्योगपति हैं पर एमपी में उद्योग नहीं लगाते, कमलनाथ ने दी उद्योग का नाम बताने की चुनौती तो बोले कांग्रेस नेताओं से पूछें सवाल

Updated: Oct 24, 2020, 04:40 PM IST

MP By Elections: कमलनाथ उद्योगपति हैं या नहीं, प्रदेश के मौजूदा और पूर्व मुख्यमंत्री में वार-पलटवार का नया मुद्दा
Photo Courtesy : TV 9 Bharatvarsh

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बीच इस बात पर बहस हो रही है कि कमलनाथ उद्योगपति हैं या नहीं। इस बहस में अब शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कमलनाथ को मेरे उद्योगपति कहने पर एतराज़ है, जबकि खुद उनकी पार्टी के नेता उन्हें उद्योगपति कहते हैं। दरअसल शिवराज सिंह चौहान ने अपनी चुनावी सभा में आरोप लगाया था कि कमलनाथ जी बड़े उद्योगपति हैं, लेकिन उनके उद्योग बाकी पूरे देश में हैं, मध्य प्रदेश में नहीं। कमलनाथ ने इसी आरोप के जवाब में पलटवार करते हुए कहा कि शिवराज सिंह चौहान मुझे बार-बार उद्योगपति कहते हैं, लेकिन मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि वे मेरे एक उद्योग का नाम बता दें। 

इसी के जवाब में शिवराज चौहान ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा कि 'कल कमलनाथ जी ने मुझे झूठा कहा और कहा कि मैं उन्हें उद्योगपति कह रहा हूं और देशभर में उनका कोई उद्योग हो तो बताऊं। मैं कमलनाथ से कहना चाहता हूं कि ये सवाल आप पहले अपनी पार्टी से पूछिए, आपके पार्टी के नेताओं ने मुझे 'नंगा भूखा' कहा और आपको देश का 'दो नंबर उद्योगपति' कहा। '  

और पढ़ें : Kamal Nath: किस केंद्र सरकार ने मध्य प्रदेश को दिए कितने फंड, सार्वजनिक हो सारा रिकॉर्ड

दरअसल ये सारा विवाद शिवराज चौहान के उस बयान से शुरू हुआ है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कमलनाथ को मध्य प्रदेश की जनता से कोई लगाव नहीं है, इसलिए उन्होंने मध्य प्रदेश में एक भी उद्योग नहीं लगाया, जबकि वे बड़े उद्योगपति हैं।

शिवराज के इसी बयान का जवाब कमलनाथ ने शुक्रवार को कांग्रेस प्रत्याशी प्रेम चंद गुड्डू के समर्थन में सांवेर में हुई रैली के दौरान दिया था। कमलनाथ ने कहा था,  "शिवराज सिंह चौहान बार-बार मुझे उद्योगपति बताते हैं। मैं उन्हें चैलेंज देता हूं कि  मेरे किसी उद्योग का नाम वे बता दें। झूठ बोलने की भी हद होती है।"