कांग्रेस में बेटे के लिए टिकट चाह रहीं सुलोचना रावत बीजेपी में शामिल, जोबट उपचुनाव से पहले दिया झटका

सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल रावत ने शनिवार रात सीएम शिवराज की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली, जोबट विधानसभा सीट से सुलोचना कांग्रेस का टिकट पाने की प्रबल दावेदार मानी जा रही थीं

Updated: Oct 03, 2021, 11:19 AM IST

कांग्रेस में बेटे के लिए टिकट चाह रहीं सुलोचना रावत बीजेपी में शामिल, जोबट उपचुनाव से पहले दिया झटका
Photo Courtesy: Twitter

भोपाल। आगामी विधानसभा चुनाव के सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा मध्य प्रदेश उपचुनाव दिलचस्प होता जा रहा है। उपचुनाव से पहले सियासी दांव भी शुरू हो गए हैं। कांग्रेस नेता सुलोचना रावत ने अपने बेटे विशाल के साथ बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। शनिवार रात को ही वे सीएम शिवराज सिंह चौहान और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गयीं। 

दिलचस्प बात यह है कि आगामी उपचुनावों में जोबट सीट पर कांग्रेस सुलोचना रावत को अपने प्रबल उम्मीदवार के रूप में देख रही थी। टिकट पाने के लिए सुलोचना का नाम दावेदारी की रेस में सबसे आगे चल रहा था लेकिन सुलोचना रावत अपने बेटे को चुनाव लड़ाना चाहती थीं। इस बीच जोबट सीट पर उम्मीदवार का नाम फाइनल होने से पहले ही उन्होंने बेटे समेत बीजेपी का दामन थाम लिया। 

सुलोचना रावत और विशाल रावत के बीजेपी में शामिल होने के बाद यह कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी इस सीट से दोनों में से किसी एक को अपना उम्मीदवार बना सकती है। हालांकि बीजेपी के इस संभावित फैसले से खुद बीजेपी को क्षेत्र में आंतरिक गुटबाज़ी का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इस सीट पर बीजेपी के पूर्व विधायक नागर सिंह चौहान पहले से ही अपना दावा ठोक रहे हैं। ऐसे में अगर नागर सिंह चौहान को टिकट नहीं मिला तो यहां भी दमोह उपचुनाव जैसा ही खामियाजा बीजेपी को भुगतना पड़ सकता है। 

सुलोचना रावत पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के कार्यकाल के दौरान मंत्री रह चुकी थीं। 2018 में जब विधानसभा चुनाव हुए तब कांग्रेस ने कलावती भूरिया को इस सीट से टिकट दिया था। जिससे नाराज हो कर सुलोचना के बेटे विशाल रावत ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में फॉर्म भर दिया था। कांग्रेस पार्टी ने भी कार्रवाई करते हुए सुलोचना को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। हालांकि बाद में सुलोचना रावत को पार्टी ने दोबारा शामिल कर लिया गया था। लेकिन कलावती भूरिया के जाने के बाद से ही सुलोचना की सक्रियता बढ़ गयी थी और वो कांग्रेस में अपने बेटे को दावेदारी के लिए आगे बढ़ा रही थीं। 

यह भी पढ़ें : पृथ्वीपुर सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार का हुआ एलान, नितेंद्र सिंह राठौर लड़ेंगे उपचुनाव

मध्य प्रदेश में 30 अक्टूबर को विधानसभा की तीन सीटों और खंडवा लोकसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं। जिन तीन विधानसभा सीटों पर चुनाव होने हैं उनमें जोबट, पृथ्वीपुर और रैगांव की सीटें शामिल हैं। कांग्रेस ने पृथ्वीपुर सीट से अपने उम्मीदवार का एलान कर दिया है। पृथ्वीपुर सीट से कांग्रेस ने दिवंगत कांग्रेस नेता बृजेंद्र सिंह राठौर के बेटे नितेंद्र सिंह को टिकट दिया है। लेकिन जोबट और खंडवा में अब भी दोनों पार्टियों से कैंडिडेट्स का इंतजार है