जबलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीज की कुत्ते ने चबाई उंगली

मध्य प्रदेश में सरकारी अस्पताल के हालात ये हैं कि कुछ समय पहले खंडवा जिला अस्पताल में भर्ती मरीज को बदमाशों ने चाकू से गोद कर घायल कर दिया था।

Updated: Jun 04, 2022, 05:15 PM IST

जबलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीज की कुत्ते ने चबाई उंगली

जबलपुर। मध्य प्रदेश के सरकारी अस्पताल में बेहतर इलाज की व्यवस्था भले ही नहीं हो लेकिन जान का खतरा बना रहता है। कभी जिला अस्पताल में भर्ती मरीज को चाकुओं से गोद दिया जाता है। कभी भर्ती मरीज की आंख की पलक चूहे द्वारा काट दिया जाता है। कभी नवजात शिशु की एड़ी चूहे द्वारा खा ली जाती है।

मध्यप्रदेश के सरकारी अस्पतालों के हालत का एक ओर नया मामला सामने आया हैं। जबलपुर के नेताजी सुभाषचंद्र अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज के वार्ड में भर्ती मरीज की उंगली को कुत्ता चबा गया। इस घटना के बाद भर्ती युवक घायल हो गया। वार्ड में भर्ती अन्य मरीजों में घबराहट और हड़कंप की स्थित निर्मित हो गई।

जबलपुर के नयागांव निवासी प्रियंक मेहरा अपने हाथ का ऑपरेशन करवाने के लिए नेताजी सुभाषचंद्र अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज के वार्ड नं 14 में भर्ती हुआ था। प्रियंक जब अपने बेड पर लेटकर आराम कर रहा था तभी वार्ड में एक आवारा कुत्ते ने आकर प्रियंक के हाथ का पंजा चबाने की कोशिश की। आप पास भर्ती मरीजों के परिजनों ने कुत्ते को भगाया लेकिन कुत्ते ने उंगली को बुरी तरह चबा लिया। जिससे प्रियंक के हाथ से खून निकलने लगा। घायल प्रियंक का इलाज वार्ड बॉय ने किया।

यह भी पढ़े: मोदी सरकार यदि MP के हिस्से का कोयला नहीं देती है तो कोयला यात्रा निकालेंगे: अरुण यादव की चेतावनी

जब इस बात की जानकारी अस्पताल अधीक्षक के पास पहुंची तब कही जाकर ड्यूटी डॉक्टर प्रियंक का हाल चाल जानने पहुंचे। गौरतलब है कि कुछ समय पूर्व ही जबलपुर कलेक्टर टी इलैया राजा ने अस्पताल का दौरा किया था लेकिन अस्पताल प्रबंधन के कान पर जूं तक नहीं रेंगी।

इससे पहले खंडवा जिला अस्पताल ने भर्ती मरीज पर 4 आदतन बदमाशों ने वार्ड के भीतर घुसकर चाकू से गोद कर हत्या करने का प्रयास किया था जिससे पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया था। इससे पहले अस्पताल में भर्ती एक मरीज की आंख की पलक को चूहों ने काट दिया था।